जदयू का पलटवार : भाजपा प्रवक्ता सच बोलें तो RTI की जरुरत ही नहीं पड़ेगी

nikhil-jdu
फाइल फोटो

पटना (नियाज़ आलम) : बिहार विशेष पैकेज को लेकर जदयू और भाजपा में तकरार जारी है. इसी क्रम में जदयू के प्रदेश प्रवक्ता निखिल मंडल ने कहा है कि भाजपा के प्रवक्ताओं द्वारा ये कहना कि जदयू को पता नहीं कौन सी सूचना कहां से मांगी जाए, वाकई हास्यास्पद है. उन्होंने कहा कि अगर भाजपा के नेतागण और प्रवक्तागण मुद्दे को भटकाना और गलत जानकारी देना छोड़कर सही जानकारी जनता को दें तो सूचना के अधिकार की जरुरत ही नहीं पड़ेगी.

मंडल ने कहा कि भाजपा प्रवक्ताओं की जानकारी के अभाव को दूर करते हुए ये बता दूं कि जदयू ने बिहार के विशेष पैकेज के सन्दर्भ में प्रधानमंत्री कार्यालय से ही सूचना मांगी थी. प्रधानमंत्री कार्यालय ने ही सवाल के जवाब के लिए नीति आयोग को अधिकृत किया. उन्होंने कहा कि ऐसे में ये सच्चाई उजागर हो चुकी है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से बिहार के लिए घोषित सवा लाख करोड़ के विशेष पैकेज की बात जनता के साथ धोखा है. या यूं कहे कि अन्य घोषणाओं की तरह विशेष पैकेज की बात भी जुमला है.

nikhil-jdu
जदयू प्रवक्ता (फाइल फोटो)

जदयू प्रवक्ता ने कहा कि भाजपा प्रवक्ता राज्यांश की बात कर रहे है. ऐसे में ये सवाल है कि अगर राज्य सरकार को राज्यांश देना ही होता है तो फिर बिहार को 1.25 करोड़ का विशेष पैकेज कहां जाएगा?

बता दें कि पहले जदयू ने बिहार को विशेश पैकेज देने के प्रधानमंत्री की घोषणा पर सवाल उठाते हुए इसकी जानकारी नीति आयोग से मांगी. जदयू के नीति आयोग से जानकारी मांगने को लेकर प्रदेश भाजपा ने हमला किया. भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता संजय टाइगर ने कहा कि जदयू प्रवक्ताओं को ये ही पता नहीं कि कौन सी जानकारी किससे मांगनी है. उन्होंने कहा कि विशेष पैकेज का मामला प्रधानमंत्री कार्यालय से संबंधित है तो जदयू इसकी जानकारी नीति आयोग से क्यों मांग रहा है.

यह भी पढ़ें :
विशेष पैकेज पर JDU ने उठाए सवाल, BJP बोली- सेहत के लिए अच्छा नहीं
सुमो का सवाल : 1 लाख की पूंजी से 50 करोड़ की मालिक कैसे बनी मीसा भारती?
‘बकने दो भाजपाइयों को, हम विकास में मस्त हैं’
‘बिहार में करप्शन-क्राइम का बोलबाला, मौनी बाबा बन गए हैं नीतीश