‘जंगलराज क्या होता है, यूपी जाकर देखें सुशील मोदी’

पटना : लालू-शहाबुद्दीन टेप लीक मामले को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हमलावर भाजपा नेता सुशील मोदी पर जदयू प्रवक्ता संजय सिंह ने पलटवार किया है. उन्होंने सुशील मोदी को यूपी जाने की नसीहत देते हुए कहा कि वो वहां जाकर देखे कि जंगलराज किस तरीके से चलाया जाता है. कैसे आदित्यनाथ योगी की सरकार में बीजेपी के कार्यकर्ता और नेता गुंडागर्दी पर उतारू है? कैसे गुंडों को यूपी की सरकार लगातार संरक्षण दे रही है?

बीते महीने भर में यूपी में हुई विभिन घटनाओं का हवाला देते हुए संजय सिंह ने कहा कि सुशील मोदी एक बार यूपी का दौरा करे और बताएं कि किस तरह से वहां प्रशासन के कामों में राजनीतिक हस्तक्षेप होता है? सुशील मोदी बतायेगे कि सहारनपुर के बीजेपी सांसद राघव लखन पाल और देवांश के विधायक ब्रजेश सिंह ने अपने एसएसपी के साथ क्या किया था? अपने सैकड़ो कार्यकर्ता के साथ बीजेपी सांसद और विधायक ने वहां के एसएसपी के ऑफिस पर हमला बोला, एसएसपी के साथ हाथापाई किया. यहां तक कि बीजेपी के गुंडों ने एसएसपी का नेम प्लेट तक तोड़ दिया. यूपी की योगी सरकार ने उक्त एसएसपी का ट्रांसफर नोयडा कर दिया.

sanjay1

सिंह ने कहा कि सुशील मोदी जी, यूपी में बीजेपी कार्यकर्ताओं की गुंडागर्दी उस समय सामने आई जब सहारनपुर में शोभायात्रा निकाली जा रही थी. एक दलित को बीजेपी के कार्यकर्ताओं ने पीटपीट कर मार डाला और वहां की सरकार ने कुछ नहीं किया. उसी तरह बुलंदशहर में हिन्दू युवा वाहनी जिसके संरक्षक यूपी के सीएम आदित्यनाथ योगी है, उन लोगो ने एक बुजुर्ग व्यक्ति को मार डाला. सुशील मोदी जी, बीजेपी की बाराबंकी की सांसद प्रियंका सिंह रावत ने तो वहां के एएसपी को काम नहीं करने पर खाल खिंचवा लेने की धमकी तक दी है. सुशील मोदी किस बीजेपी शासन की बात करते है जहां दंगे, गुंडागर्दी, प्रशासन के लोगो को धमकी दी जाती है. शायद यही बीजेपी का असली शासन है.

उन्होंने कहा कि सुशील मोदी अपने आंकड़े को ठीक करेंगे तो पता चलेगा कि यूपी चुनाव में तीन दर्जन से ज्यादा ऐसे लोगो को टिकट दिया गया था जिनपर अपराध के गंभीर आरोप है. यूपी के बीजेपी सरकार में 142 विधायक ऐसे है जिनपर एफआईआर दर्ज है. सुशील मोदी बताएं कि इन अपराधी विधायको को किस रूप में देखते है?

जदयू प्रवक्ता ने कहा कि बिहार में सुशासन का राज है. यहां किसी को कानून से खेलने का हक़ नहीं है. शाहबुद्दीन ने बात किया और जिस एसपी की शिकायत की, आज भी वो एसपी सीवान ही तैनात है. इसे कहते है सुशासन. सुशील मोदी सरकारी बंगले के दुरूपयोग का आरोप लगा रहे है तो वो बताये कि उनके पूर्व एमएलसी गंगा प्रसाद ने 18 साल तक अपने सरकारी बंगले का क्या उपयोग किया? 18 साल तक उस बंगले में टेंट शामियाना लगा रहा और उससे गंगा प्रसाद ने करोडो रुपये कमाये. उस वक्त सुशील मोदी को क्या हो गया था?

यह भी पढ़ें :
‘नीतीश करवा रहे थे लालू का फोन टैप, अब दबाव बना रहे हैं’
लालू पर सुनवाई कल, मंगल पांडेय ने कहा- टेप मामले को ध्यान में रखेगा SC
पढ़िएः Google पर बिहार के बारे में क्या सर्च करते हैं लोग, चौंक जाएंगे