‘किसान आंदोलन कर रहे और बीजेपी योग दिवस मनाने में व्यस्त’

लाइव सिटीज डेस्क : जदयू प्रवक्ता व विधान पार्षद संजय सिंह ने भाजपा नेता सुशील मोदी द्वारा मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को योग दिवस मनाने संबंधी बयान पर पलटवार किया है. उन्होंने कहा कि देश के किसान आंदोलन कर रहे है और बीजेपी सरकार योग दिवस मनाने में व्यस्त है. मंदसौर में किसानों पर जुल्म ढाये जा रहे और सरकार योग कर रही है? ये योग दिवस आयोजन नही, एक इवेंट का आयोजन किया जा रहा है और इस इवेंट के माध्यम से कुछ लोगों को फायदा पहुंचाया जाएगा.

उन्होंने कहा कि क्या योगा में शराब पीने की अनुमति दी जाती है? अगर नहीं तो क्या पीएम नरेंद्र मोदी का दायित्व नहीं हैं कि योग दिवस के उपलक्ष्य में शराब की ख़रीद बिक्री पर पहले पाबंदी लगायी जाए. कम से कम प्रधानमंत्री भाजपा शासित राज्य में पाबंदी की घोषणा कर देते तो योग का सम्मान होता. सुशील मोदी बताएं कि प्रधानमंत्री कब से योग कर रहे हैं? जबकि नीतीश कुमार तो वर्षों से योग के आसन, प्राणायाम और योग निंद्रा नियमित रूप से कर रहे है. योग में शराब के सेवन की अनुमति नहीं दी जाती. सुशील मोदी जी, बिना शराब पर पाबंदी लगाए कैसा योग दिवस मनाया जा रहा है.

sanjay2.jpg

सिंह ने कहा कि सुशील मोदी जी , हर चीज़ को एक इवेंट में बदल कर मूल विषय से ध्यान भटकाया जाता है अगर केंद्र सरकार योग दिवस मनाना चाहती हैं तो पहले शराब बिक्री पर पाबंदी लगाएं. उसके बाद नीतीश कुमार और पूरा जेडीयू परिवार भी योग दिवस मनाएगा. योग एक दिन का नही बल्कि जीवन पद्धति है और इसे रोज किया जाता है और इसे जीवन में शामिल किया जाता है. योग को एक पार्टी से जोडने का घृणित काम हो रहा है इसलिए इस योग पर अंगुलिया उठ रही है. सुशील मोदी योग एक स्वेच्छा का विषय है और जबतक इच्छा नही होगी कोई योग नही कर सकता है.

यह भी पढ़ें –
सुशील मोदी का सवाल : अकेले में योग करते हैं नीतीश, फिर क्यों करते हैं विरोध?
CBSE के हजार स्‍कूल लेते हैं सिर्फ ठेका, 500 करोड़ का धंधा, CBI जांच के लिए पप्‍पू ने पत्र लिखा
लखीसराय गैंगरेप : सीएम नीतीश ने लिया संज्ञान, PMCH हुआ एक्टिव