PM मोदी के दौरे से अब JDU भी उदास, कहा – बिहार को निराशा हुई

shyam-rajak
श्याम रजक (फाइल फोटो)

पटना : पटना यूनिवर्सिटी को सेंट्रल यूनिवर्सिटी बनाने की मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की मांग को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा नहीं माना जाना अब सियासी रंग लेने लगा है. बिहार के लोग तो उदास हुए ही थे, अब जदयू भी निराश हो गई है. सबों को पता है कि बिहार में अभी NDA की सरकार है.

जदयू के नेशनल जनरल सेक्रेटरी श्याम रजक खुल कर बोले हैं. उन्होंने कहा कि बिहार को बहुत उम्मीदें थी. इन उम्मीदों को ध्यान में रखकर ही मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पटना यूनिवर्सिटी को सेंट्रल यूनिवर्सिटी बनाने की मांग आज शनिवार 14 अक्टूबर को पटना आये प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के समक्ष रखी. पटना यूनिवर्सिटी का आज शताब्दी समारोह था. सेंट्रल यूनिवर्सिटी का तोहफा देने का इससे बेहतर और कोई अवसर नहीं था. लेकिन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बिहार को निराश कर दिया.

श्याम रजक इतने भर से नहीं रुके हैं. उन्होंने कहा कि बिहार को इस बात की पीड़ा है कि आजादी के 70 वर्षों में किसी भी केंद्र सरकार ने बिहार के साथ न्याय नहीं किया है और वाजिब हक़ नहीं प्रदान किया है. बिहार की उपेक्षा हुई है. बिहार की तरक्की पिछले 12 वर्षों में सिर्फ इसलिए हुई, क्योंकि सूबे को मजबूत इच्छाशक्ति वाला मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के रूप में मिला हुआ है. आज बिहार किसी भी रूप में आगे बढ़ा है तो वह स्वयं के बूते है और इसे नीतीश कुमार का नेतृत्व प्राप्त है.

उन्होंने कहा कि बिहार के लोग जानने का हक़ रखते हैं कि पटना यूनिवर्सिटी को सेंट्रल यूनिवर्सिटी का दर्जा क्यों नहीं मिलेगा. जब केंद्र इंसाफ न करे, तो आवाज उठानी पड़ेगी और मैं उठा भी रहा हूं. सवाल बिहार का है और बिहारियों की चाहत का है.

कब तक रहेंगे किराये में : कीमतें बढ़ने के पहले खरीदें 9 लाख का फ्लैट, ऑफर में Gold Coin भी
iPhone 8 पटना को सबसे पहले गिफ्ट करेगा चांद बिहारी ज्वैलर्स, सोने के सिक्के तो फ्री हैं ही
धनतेरस पर बेस्ट आॅफर दे रहे हैं हीरा-पन्ना ज्वैलर्स, Turkish जूलरी के साथ Gold Coin भी फ्री
स्मार्ट बनिए आ रही DIWALI में, अपने Love Bird को दीजिए Diamond Jewelry
अभी फैशन में है Indo-Western लुक की जूलरी, नया कलेक्शन लाए हैं चांद बिहारी ज्वैलर्स

(लाइव सिटीज मीडिया के यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)