श्याम रजक बोले – राजद-कांग्रेस की ओर से भी कोविंद को मिलेगा वोट

shyam-rajak
श्याम रजक (फाइल फोटो)

पटना : राष्ट्रपति चुनाव को लेकर बिहार में सियासत तेज है. महागठबंधन में भी परस्पर विरोधी बयान सुने जा रहे हैं. वजह है मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उनकी पार्टी जनता दल यूनाइटेड द्वारा विपक्ष की उम्मीदवार मीरा कुमार की जगह भाजपा समर्थित रामनाथ कोविंद को अपना समर्थन देना. एक ओर जहां राजद और कांग्रेस नेता खुलकर इसका विरोध करते हुए नीतीश कुमार को कई नसीहतें दी हैं तो वहीँ जदयू नेता भी अब नीतीश कुमार के समर्थन में जोरशोर से बयान दे रहे हैं.

इसी क्रम में जदयू के महासचिव व पूर्व मंत्री श्याम रजक ने कुछ ऐसा कह दिया है कि राजद और कांग्रेस नेतृत्व के कान खड़े हो सकते हैं. श्याम रजक ने संभावना जताई है कि जदयू को छोड़कर महागठबंधन के अन्य सांसद-विधायक भी रामनाथ कोविंद के समर्थन में वोटिंग कर सकते हैं. न्यूज़ चैनल ईटीवी से श्याम रजक ने कहा है कि राजद और कांग्रेस के कई नेता भी अंतरात्मा की आवाज पर अपना वोट रामनाथ कोविंद को दे सकते हैं.

shyam-rajak
फाइल फोटो

भाजपा समर्थित राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार बिहार के पूर्व राज्यपाल रामनाथ कोविंद की तारीफ़ करते हुए श्याम रजक ने उन्हें दलित उत्थान का मसीहा बताया. रजक ने कहा कि कोविंद की इसी छवि की वजह से महागठबंधन के अन्य प्रतिनिधि (सांसद व विधायक) आगामी राष्ट्रपति चुनावों में पार्टी लाइन से हटकर उन्हें वोट दे सकते हैं.

श्याम रजक ने इससे पहले मंगलवार को राष्ट्रपति उम्मीदवार को समर्थन के मुद्दे पर कहा था कि नीतीश कुमार ने हमेशा राजनीति में देशहित को सर्वोपरि रखा है. उन्होंने यहां तक कहा था कि बिहार में जो व्यक्ति राज्यपाल है, वह देश का राष्ट्रपति बनेगा, यह देश के लिए गौरव की बात होगी.

बता दें कि एक ओर जहां श्याम रजक नीतीश कुमार के फैसले का बचाव कर रहे हैं. वहीँ दूसरी ओर राजद नेता अब खुलकर नीतीश कुमार पर हमला कर रहे हैं. शनिवार को ही राजद विधायक भाई बीरेंद्र ने सीधे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हमला करते हुए उन्हें अवसरवादी करार दिया है. इससे पहले शुक्रवार रात डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने कहा था कि हम हार-जीत के लिए विचारधारा से समझौता नहीं करते.

यह भी पढ़ें –
नीतीश ने सबको ठगा है, बिहार की जनता उन्हें माफ़ नहीं करेगी’
तेजस्वी बोले – हार-जीत के लिए विचारधारा से समझौता नहीं
बोले रामविलास, NDA में अगर आयें नीतीश तो बिहार में अपराध में आएगी कमी
लालू के इफ्तार में पहुंचे नीतीश, टोपी पहनाकर हुआ स्वागत
राजद-कांग्रेस को नीतीश की दो-टूक, ‘बिहार की बेटी’ को हराने के लिए खड़ा न करे विपक्ष