राजद का मंथन : तेजस्वी अपने पद पर बने रहेंगे, कार्यकर्ता 27 अगस्त की तैयारी में लगें

lalu

पटना : बिहार के डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव के इस्तीफे और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के इसपर रुख को लेकर मचे धमासान के बीच राजद ने साफ़ कर दिया है कि तेजस्वी यादव अपने पद पर बने रहेंगे. उनके द्वारा इस्तीफा देने का कोई सवाल ही नहीं है. राजद के कई वरिष्ठ नेता मंगलवार शाम पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के आवास पर हुई बैठक में शामिल हुए. इस बैठक में रांची से वापस आने के बाद राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद भी मौजूद रहे. बैठक से निकलने के बाद राजद नेताओं ने यह ऐलान किया.

गौरतलब है कि मंगलवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ हुई जदयू के बैठक के बाद राजद के सभी वरिष्ठ नेता भी सूबे में जारी सियासी हलचल पर मंथन करने के लिए राबड़ी देवी के आवास पर पहुंचे थे. इनमें अब्दुल बारी सिद्दीकी, भाई बीरेंद्र, जगदानंद सिंह, रघुवंश प्रसाद सिंह, रामचंद्र पूर्वे, शिवानंद तिवारी इत्यादि नेता मौजूद रहे.

lalu
फाइल फोटो

उधर राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद भी रांची से पटना अपने आवास पर पहुंचे. बताया जाता है कि उन्होंने आवास पर मौजूद सभी नेताओं के ताजा राजनीतिक घटनाक्रम पर चर्चा की. राजद सुप्रीमो के साथ बैठक के बाद पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं मंत्री अब्दुल गफूर ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि तेजस्वी यादव उपमुख्यमंत्री के पद पर बने रहेंगे. बताया जा रहा है कि लालू प्रसाद ने सभी कार्यकर्ताओं और नेताओं से 27 अगस्त को होनेवाली रैली की तैयारी में लगने को कहा है.

इससे पहले रामचंद्र पूर्वे ने मीडियाकर्मियों से बात करते हुए साफ़-साफ़ कहा कि तेजस्वी यादव के अपने पद से इस्तीफा देने का सवाल ही नहीं उठता. पूर्वे की बात का अन्य राजद नेताओं ने भी समर्थन किया है. जदयू द्वारा जनता की अदालत में जाने पर मंत्रीं आलोक मेहता ने कहा कि वो (जदयू) कुछ मामले राजद पर छोड़ दें. वहीँ राजद प्रवक्ता शक्ति यादव ने कहा कि तेजस्वी ने अपने काम से खुद को साबित किया है. तेजस्वी के द्वारा किये गए काम से भाजपा घबरा गई है. उन्होंने कहा कि तेजस्वी ने अपने कामों से बिहार के युवाओं पर अमिट छाप छोड़ी है. इसलिए उनके इस्तीफे का सवाल ही नहीं है.

बता दें कि बिहार सरकार में सहयोगी राजद प्रमुख लालू यादव और उनके परिवार से जुड़े बारह ठिकानों पर सीबीआइ ने शुक्रवार को छापेमारी की थी. साथ ही सीबीआइ की आेर से दर्ज एफआइआर में तेजस्वी यादव का नाम आने के बाद से विपक्ष लगातार उनके इस्तीफे की मांग कर रहा है.

इसी के मद्देनजर सबकी निगाहें आज जदयू की बैठक पर टिकी हुयी थी. उधर, जदयू की बैठक के बाद पार्टी के वरिष्ठ नेता रमई राम ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि तेजस्वी यादव के इस्तीफे पर जदयू चार दिन बाद कोई निर्णय लेगा और इसपर फैसला लेने के लिए नीतीश कुमार को पार्टी ने अधिकृत किया है.

जदयू की बैठक के बाद प्रेस कांफ्रेंस के दौरान जदयू प्रवक्ता नीरज कुमार ने कहा कि पार्टी तेजस्वी यादव से आरोपों पर सफाई चाहती है. उन्होंने कहा कि हम गठबंधन धर्म का पालन करेंगे, मगर नीतीश कुमार भ्रष्टाचार पर जीरो टोलरेंस की नीति पर काम करते हैं. उन्होंने कहा कि तेजस्वी यादव सार्वजनिक तौर पर तथ्य रखें और अपने ऊपर लगे आरोपों पर सफाई दें.

यह भी पढ़ें –
जानिये अंदर की बात – किसने क्या कहा था जदयू की बैठक में..!
राजद का जदयू को साफ़ जवाब – तेजस्वी किसी कीमत पर नहीं देंगे इस्तीफा