मंत्री की सफाई, भाई के कारोबार से संबंध नहीं, मेरे खिलाफ नहीं है सीबीआई केस

पटना : सूबे के परिवहन मंत्री चंद्रिका राय ने सफाई दी है . उन्‍होंने कहा है कि यह सही है कि वे और विधान चंद राय बिहार के पूर्व मुख्‍य मंत्री स्‍व. दारोगा प्रसाद राय के पुत्र हैं . विधान चंद राय बड़े भाई हैं . लेकिन पिछले 25 वर्षों से हम दोनों की फैमिली जुदा है . उनके कारोबार से हमारे परिवार का कोई लेना-देना नहीं है .

मालूम हो कि सीबीआई की पटना यूनिट ने बैंक से करोड़ों की धोखाधड़ी मामले में विधान चंद राय व अन्‍य के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर अनुसंधान शुरु कर दिया है . बैंक के साथ चीटिंग यूनियन बैंक आफ इंडिया के पटना मेन ब्रांच से की गई है . इसमें बैंक अधिकारियों की मिलीभगत भी रही है . विधान चंद राय के पास पहले महिन्‍द्रा गाडि़यों की एजेंसी सोनाली ऑटोमाबाइल के नाम से पटना में थी .

मामले में अपना पक्ष रखते हुए मंत्री चंद्रिका राय ने कहा कि सीबीआई की चार्जशीट में कहीं भी मेरा उल्‍लेख नहीं किया गया है . कभी किया भी नहीं जा सकता . कारण सभी जानते हैं कि दोनों भाइयों ने जिंदगी की अलग-अलग राह बहुत पहले चुन ली थी . मैं हमेशा राजनीति में सक्रिय रहा,जबकि वे कारोबार करते रहे . उन्‍होंने क्‍या और कैसे किया है,हमें क्‍या पता होगा . श्री राय ने कहा कि मीडिया की इन खबरों से मैं आहत हुआ हूं कि विधान चंद राय पर सीबीआई के मुकदमे के कारण मुझे भी परेशान होना होगा . हम उनके कारोबार में कहीं आते ही नहीं हैं,तो फिर यह मामला हमसे जुड़ ही नहीं सकता है .