कोसी की ओर ध्यान नहीं दे रही बिहार व केंद्र सरकार : पप्पू यादव

सुपौल : जन अधिकार पार्टी सुप्रीमो व मधेपुरा सांसद पप्पू यादव ने कोसी क्षेत्र में हाई डैम न बनने के मुद्दे को लेकर शुक्रवार को बिहार और केंद्र सरकार को घेरा. उन्होंने कहा कि आज जब हिन्दुस्तान के सभी इलाकों में हाई डैम का निर्माण हो गया तो फिर कोसी अभी तक हाई डैम से अछूता क्यों है? एनडीए और यूपीए दोनों की ही सरकारों ने इस दिशा में कोई दिलचस्पी नहीं दिखाई.

 

सांसद पप्पू यादव ने कहा कि 2019 में हम हाई डैम का प्रस्ताव पारित करेंगे, तब जाकर चुनाव लड़ेंगे. उन्होंने कहा कि रेलवे के मामले में बिहार सरकार और उसके अधिकारी रोड़ा अटका रहे हैं. सुपौल-पिपरा के लिए तीन महीना पहले ही डीएम को कागज मिल चुका है किन्तु उन्होंने अब तक रेल मंत्रालय को कागज नहीं भेजा है. भारत सरकार के रेल मंत्री कह रहे हैं कि कागज भिजवाइये, पैसा देने के लिए हम तैयार हैं, आप काम शुरू करवाइए.

pappu yadav

सांसद ने कहा कि सहरसा ओवरब्रिज का टेंडर बिहार सरकार ने नहीं करवाने दिया. तीन दिन पहले हमने टेंडर करवाया है. मंत्री का नाम लिए बिना उन्होंने कहा कि जून 2018 में सिहेंश्वर-खुर्दा के बीच एनएच का काम शुरू होगा. दो माह के अंदर राजधानी एक्सप्रेस सहरसा से होकर गुजरेगी. मंत्री पर अपनी भड़ास निकालते हुए उन्होंने कहा कि 35 साल मंत्री रहने के बावजूद उन्होंने पब्लिक से भेंट तक नहीं की. यह सुपौल की सांसद रंजीत रंजन सह सकती हैं, पप्पू यादव नहीं. सांसद ने कहा कि एम्स और सेंट्रल स्कूल के लिए जमीन नहीं उपलब्ध कराया गया. नतीजा है कि सुपौल में न तो एम्स बन सका और न ही सेंट्रल स्कूल.

मौके पर जाप के जिलाध्यक्ष नवीन यादव, सुरेन्द्र प्रसाद यादव, सादाब रजी, विशाल कुमार, ललन कुमार, राजाराम चौधरी, नरेश ठाकुर, विरेन्द्र यादव, छेदन राय, लालेन्द्र यादव, श्याम मिश्र, शिवनंदन यादव आदि मौजूद थे.

सुपौल से प्रियरंजन कुमार की रिपोर्ट