बोले नित्यानंद, छात्रों पर हिंसक कार्रवाई दिला रही इमरजेंसी की याद

पटना (नियाज़ आलम):  इंटर कॉउंसिल के बाहर एबीवीपी द्वारा किये गए उग्र प्रदर्शन के खिलाफ हुए पुलिसिया कार्रवाई की प्रदेश भाजपा ने कड़ी निंदा की है. पार्टी प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय ने कहा कि जेपी आंदोलन में छात्रों पर लाठी बरसा कर कांग्रेस अंजाम भुगत चुकी है. उन्होंने नीतीश सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा है अगर सरकार ने हिंसक रवैया नहीं बदला तो उसे भी  इसका परिणाम भुगतना पड़ेगा.



राय ने कहा कि बिहार सरकार के नेतृत्वकर्ता 1970 के दशक में महान समाजवादी नेता जय प्रकाश नारायण के ऐंटी इमरजेंसी आंदोलन की उपज हैं, लेकिन आज सत्ता की गोद में बैठ कर निरंकुश शासक की तरह व्यवहार कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि छात्रों और विपक्ष की आवाज़ को जिस तरह से सरकार दबाना चाहती है, वह शर्मनाक है.

प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि सरकार जनहित के सवालों का जवाब देने से बचना चाहती है, वह जिस तरह से हिंसा का प्रयोग कर रही है वह इमरजेंसी की याद दिलाता है. राय ने कड़े शब्दों में कहा है कि सभी छात्रों की कापियों की निःशुल्क कांच कराई जाये. सभी इच्छुक छात्रों को कंपार्टमेंटल परीक्षा में बैठने की छूट दी जाये तभी सही न्याय होगा.

नित्यानंद राय ने साफ तौर पर कहा है कि जब तक छात्रों के साथ न्याय नहीं होगा, सरकार को चैन से बैठने नहीं देंगे. उन्होंने कहा है कि राज्य सरकार अगर छात्रों के साथ न्याय नहीं कर सकती है तो गद्दी छोड़ दे, वरना भाजपा ऐसी निरंकुश सरकार को उखाड़ फेंकेगी.

कांग्रेस की पूर्व विधायक सुनीता बैठा भाजपा में शामिल

2014 लोकसभा चुनाव से ्अब तक कांग्रेसी नेताओं का भाजपा में शामिल होने का सिलसिला लगातार जारी है. इसी क्रम में कटिहार के कोढ़ा विधान सभा क्षेत्र से कांग्रेस की पूर्व विधायक व कांग्रेस के पुराने नेता दूमर लाल बैठा की पोती सुनीता बैठा अपने लाव लश्कर के साथ भाजपा में शामिल हो गईं. सुनीता बैठा के साथ कोढ़ा विधानसभा के 67 अन्य कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने भी भाजपा की सदस्यता ग्रहण की है. प्रदेश अध्यक्ष नित्यानद राय ने सुनीता बैठा को पार्टी की सदस्यता ग्रहण कराई.

राय ने बैठा को गुलदस्ता भेंट कर पार्टी में आने पर उनका स्वागत किया. सुनीता बैठा ने भी प्रदेश अध्यक्ष को फूल माला भेंट कर एवं मिठाई खिलाकर धन्यवाद दिया. इस अवसर पर सुनीता बैठा ने कहा कि कांग्रेस पार्टी दिशाविहीन हो चुकी है. उन्होंने कहा की अंधी बहरी कांग्रेस पार्टी को छोड़ कर वह भाजपा में शामिल हो रही हैं. इसके लिए वह पार्टी अध्यक्ष का धन्यवाद करती हैं.

यह भी पढ़ें –  बोले नित्यानंद : छात्रों पर लाठी बरसा कर लोकनायक की आत्मा को कष्ट पहुंचा रहे नीतीश