यशवंत सिन्हा के आर्टिकल के बाद पूरा विपक्ष केंद्र पर हमलावर, लालू भी बोले

lalu-prasad-yadav
फाइल फोटो

पटना : भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता व अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में वित्त मंत्री रहे यशवंत सिन्हा के आर्टिकल ने विपक्ष को केंद्र सरकार पर हमला करने का बड़ा मौका दे दिया है. यशवंत सिन्हा ने वित्त मंत्री अरुण जेटली पर निशाना साधते हुए नोटबंदी के फैसले पर सरकार को आड़े हाथों लिया था. उन्होंने कहा कि नोटबंदी ने गिरती जीडीपी में आग में तेल डालने की तरह काम किया. सिन्हा के आर्टिकल की पंक्तियां – पीएम मोदी कहते हैं कि उन्होंने गरीबी को काफी करीबी से देखा है. ऐसा लगता है कि उनके वित्तमंत्री इस तरह का काम कर रहे हैं कि वह सभी भारतीयों को गरीबी काफी पास से दिखाएं, सोशल मीडिया में वायरल हो गई है.

अब यशवंत सिन्हा के इन बयानों को लेकर पूरा विपक्ष एकजुट होकर केंद्र सरकार पर हमलावर है. बिहार से राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार पर हमला किया है. लालू ने आज बुधवार को ट्विटर के माध्यम से निशाना साधा. उन्होंने कई ट्वीट किये. उन्होंने कहा – हर भारतीय देश की अर्थव्यवस्था के निराशाजनक दृश्यों को महसूस कर रहा है. भाजपा में यशवंत सिन्हा ने इसे रेखांकित करने की हिम्मत की है.

लालू ने आगे कहा – केंद्र सरकार का एकमात्र फोकस प्रधानमंत्री की इमेज बनाना है. हर चीज़ उसके चारों ओर घूमती है. प्रधानमंत्री, वित्त मंत्री का कार्य कर रहे हैं और विदेश मंत्रालय सबसे बड़ा दुर्भाग्य बन गया है. देश की तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था को पहले नोटबंदी और फिर GST ने झटका दे दिया है.

अपने अगले ट्वीट में उन्होंने कहा कि यशवंत सिन्हा ने कहा कि या तो भाजपा नेता प्रधानमंत्री की प्रशंसा करें, या मजबूरी और डर से चुप रहें. क्या आपको तानाशाही और फासीवाद के अन्य सबूतों की आवश्यकता है?

बता दें कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी, पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम से लेकर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल तक ने सिन्हा का हवाला देते हुए सरकार पर जोरदार प्रहार किया है. राहुल गांधी ने इस मुद्दे पर ट्वीट कर कहा -‘देवियों और सज्जनों आपके को-पायलट और वित्त मंत्री बोल रहे हैं: कृपया सीट बेल्ट बांध लें, हमारे प्लेन के पंख गिर गए हैं.’

वहीँ पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम ने कहा – ‘यशवंत सिन्हा ने सत्ता के सामने सच कहा है. क्या सत्ता सच्चाई को स्वीकार करेगी कि अर्थव्यवस्था डूब रही है. इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि सत्ता क्या करती है, अंत में सत्य की जीत होगी.’ उन्होंने सिन्हा की इस बात को दोहराया कि वास्तव में जीडीपी ग्रोथ 3.7 फीसदी या इससे कम है.

Patna में चलिए Sangeeta, यहां TV के साथ TV फ्री मिल रहा है अभी
मौका है : AIIMS के पास 6 लाख में मिलेगा प्लॉट, घर बनाने को PM से 2.67 लाख मिलेगी ​सब्सिडी

उधर मानहानि को लेकर अरुण जेटली से कानूनी लड़ाई लड़ रहे दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने भी इस मौके को हाथ से जाने नहीं देते हुए पार्टी नेता आशीष खेतान के ट्वीट को रीट्वीट किया. जिसमें उन्होंने लिखा है – राष्ट्र को यह जानना चाहिए कि अरुण जेटली केजरीवाल के खिलाफ अभियोग चालने के लिए हर दूसरा दिन दिल्ली मैजिस्ट्रेट कोर्ट में बिताते हैं.’

यह भी पढ़ें – यशवंत सिन्हा का दो टूकः भारतीयों को करीब से गरीबी दिखाना चाहते हैं जेटली

(लाइव सिटीज मीडिया के यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)