राबड़ी देवी गुस्साईं : कहा – मुझे कैसी बहू चाहिए, मीडिया क्यों परेशान है?

rabri

पटना (नेयाज़ आलम) : हेल्थ मिनिस्टर तेजप्रताप यादव और डिप्टी चीफ मिनिस्टर तेजस्वी यादव की पत्नी कैसी हो, विवाद बढ़ा है. राबड़ी देवी का बयान पहले मीडिया में यह आया कि हॉल-मॉल वाली बहू नहीं चाहिए. अब राबड़ी फेसबुक पर पोस्ट लिखकर कह रही हैं कि उन्होंने ऐसा नहीं कहा था. बयान को तोड़-मरोड़ दिया गया. लालू प्रसाद और तेजस्वी यादव ने भी ट्वीट कर सफाई दी है.

राबड़ी देवी ने अपने फेसबुक में लिखा है, जो उन्हीं के शब्दों में आगे प्रस्तुत है –

कल लालू जी के जन्मदिवस के शुभ अवसर पर किसी पत्रकार ने पूछा तो मैंने “संस्कारी बहू” को लेकर अपने विचार पत्रकार बंधु के सामने रखे थे. उसे तोड़-मरोड़ कर पेश किया जा रहा है. मैंने यह नहीं कहा कि मुझे मॉल या सिनेमा जाने वाली बहू नहीं चाहिए. सिनेमा वाली बहू से मेरा तात्पर्य फिल्मी कलाकारों से था, ना कि वे लड़कियां जो ‘मॉल-सिनेमा’ देखने जाती हैं. ना तो मैं फिल्मों में काम करने वाली स्वावलंबी व आत्मनिर्भर फ़िल्म अदाकारों को कमतर आंकती हूँ और ना ही स्त्रियों के स्वतंत्रता और स्वेच्छा से घूमने फिरने या जीवनयापन के विरुद्ध हूँ. मॉल का तो कहीं कोई ज़िक्र ही नहीं था. मैं खुद सामाजिक जीवन से जुड़ी हूँ और चाहती हूँ कि हर महिला सामाजिक रूप से पुरुष प्रधान समाज में एक मजबूत पहचान स्थापित करें.

rabri

मेरा तात्पर्य बस इतना था कि मेरा एक बड़ा राजनीतिक और सामाजिक परिवार है. इसलिए मेरे विचार से वह बहू बेहतर होगी जो हमारे सामाजिक परिवेश, परिदृश्य, राजनीति और ग़रीबों की हमारे परिवार से जो अपेक्षाएँ और परिवार की जिम्मेवारियाँ है, उन्हें वह भली भाँति समझ पाए. संस्कारी एक विस्तृत शब्द है. आप इसे अपने सामाजिक सरोकारों और पारिवारिक प्रमुखताओं के हिसाब से कैसे भी परिभाषित कर सकते है. देश में किसानों और ग़रीबों के इतने ज्वलंतशील मुद्दे है उनपर बहस ना करने की बजाय मुझे कैसी बहू चाहिए इसपर मीडिया क्यों अपनी ऊर्जा ख़र्च कर रही है?

विवाद को ठहराव देने के लिए स्वयं लालू प्रसाद ने भी ट्वीट किया उन्होंने ट्वीट में लिखा कि संस्कारी बहू का मतलब strong willed, loving, caring lady, whthr working woman or housewife होता है.

lalu

तेजस्वी ने ट्वीट कर कहा कि well-cultured और संस्कारी बहू का कांटेक्स्ट व्यापक है. मीडिया को असली मुद्दों को छोड़कर बेवजह ऐसी बहस में नहीं जाना चाहिए.

tejashwi

यह भी पढ़ें –
तेज-तेजस्वी के लिए दुल्हन देखना शुरू, राबड़ी को नहीं चाहिए हॉल-मॉल जाने वाली बहू