‘तेजस्वी के सवालों का जवाब नहीं है पास में, इसलिए भाजपा और जदयू में बढ़ रही बेचैनी’

tejaswi-12
फाइल फोटो

पटना : नेता प्रतिपक्ष व पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव की प्रस्तावित ‘जनादेश अपमान यात्रा’ को लेकर भाजपा व राजद के बीच जुबानी जंग तेज हो गई है. एक तरफ भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता प्रेम रंजन पटेल द्वारा तेजस्वी यादव की यात्रा को बापू का अपमान करार दिया है. दूसरी तरफ राजद के प्रदेश प्रवक्ता चितरंजन गगन ने कहा है कि पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव के जनादेश अपमान विरोधी यात्रा से भाजपा और जदयू नेताओं की बेचैनी बढ़ गई है. उन्होंने कहा कि इसी बेचैनी के कारण उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी और जदयू-भाजपा प्रवक्ताओं द्वारा अनर्गल बयानबाजी शुरू हो गयी है.

राजद प्रवक्ता ने कहा कि बिहार विधानसभा में विश्वास मत के दौरान बोलते हुए तेजस्वी यादव द्वारा मुख्यमंत्री एवं भाजपा के खिलाफ कई गंभीर सवाल उठाये गये थे, लेकिन एक सोची-समझी रणनीति के तहत उसका लाइव प्रसारण नहीं करवाया गया. गगन ने कहा कि उन सवालों का जवाब जदयू और भाजपा नेताओं द्वारा विधानसभा में अथवा जनता के बीच अब तक नहीं दिया गया. अब जब उन सवालों को जनता से अवगत कराने के लिए तेजस्वी यादव जनता के बीच में जा रहे हैं तो जदयू और भाजपा नेताओं की परेशानी बढ़ गयी है, क्योंकि उनके पास उन सवालों का कोई जवाब नहीं है.

चितरंजन गगन

राजद नेता ने कहा कि सही मायने में आज जदयू और भाजपा नेताओं को जनता के बीच में जाने का साहस नहीं है. वे जनता को मुंह दिखाने के काबिल नहीं रह गये हैं. उनके द्वारा जनादेश का अपमान किया गया है. साथ ही भाजपा के खिलाफ महागठबंधन के पक्ष में वोट देने वाले पिछड़ी, अतिपिछड़ी, दलित-महादलित, अल्पसंख्यक एवं समाजिक न्याय में विश्वास रखने वाले समाज के प्रगतिशील लोगों के पीठ में छूरा घोपने का काम किया गया है.

गगन ने जदयू नेताओं से पूछा है कि यदि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार में थोड़ी भी नैतिकता होती और अपने चेहरे पर उन्हें इतना ही भरोसा होता तो वे इस्तीफा देकर नये जनादेश के लिए जनता के बीच में जाते न कि 2015 के बिहार विधानसभा चुनाव में मिले जनादेश के खिलाफ रात के अंधेरे में भाजपा के साथ सरकार बनाते और न चम्पारण सत्याग्रह के शताब्दी वर्ष गांधी जी के हत्यारे गोडसे के वारिसों के गोद में जाकर बैठते.

उन्होंने कहा कि आज स्थिति यह है कि जदयू और भाजपा के लोग जनता के बीच में जाने और जनता को मुंह दिखाने की स्थिति में नहीं हैं. राजद प्रवक्ता ने कहा कि भाजपा को तो बिहार की जनता पहले ही रिजेक्ट कर चुकी है.

यह भी पढ़ें –

‘तेजस्वी अपने ट्वीट पर जवाब पढ़ लें, दूर हो जायेगी खुशफहमी’

तेजस्वी का तंज – आप भी तो 65 पार हो गए हैं, आपको संन्‍यास ले लेना चाहिए