लालू बोले – फांसी पर चढ़ जायेंगे, टूटेंगे नहीं

lalu

पटना : राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव पटना आ गए हैं. वो शाम करीब 6:30 बजे पटना एयरपोर्ट पहुंचे. पटना एयरपोर्ट से लालू प्रसाद सीधे अपने आवास गए. इस दौरान उनके कई समर्थक भी गाड़ियों में उनके साथ ‘लालू जिंदाबाद’ का नारा लगाते हुए चल रहे थे.

लालू प्रसाद ने इसके बाद अपने आवास पर प्रेस कांफ्रेंस करते हुए फिर से दुहराया कि यह सब महागठबंधन की एकता तोड़ने के लिए भाजपा की साजिश है. उन्होंने कहा कि फांसी पर चढ़ जायेंगे लेकिन टूटेंगे नहीं. उन्होंने एक सवाल के जवाब में फिर से कहा कि इन सबसे महागठबंधन को कोई फर्क नहीं पड़ने वाला है. हम भाजपा को उखाड़ फेकेंगे.

lalu

आज अपने आवास पर हुए रेड को लालू प्रसाद ने  राजनीतिक साजिश बताते हुए कहा कि भाजपा सभी विपक्षी नेताओं के साथ यही कर रही है. उन्होंने कहा कि भाजपा सीबीआई का उपयोग कर मुलायम, मायावती, केजरीवाल सहित सभी नेताओं को डरा रही है. लेकिन हम इन्हें कामयाब नहीं होने देंगे. हम भाजपा को उखाड़ फेकेंगे.

लालू ने इस दौरान यह भी कहा कि उनके परिवार ने सीबीआई अधिकारियों के साथ पूरी तरह co-operate किया है. उन्होंने कहा कि हमारी सीबीआई से कोई दुश्मनी नहीं है. इसमें सीबीआई का कोई दोष नहीं है. सारा दोष नरेन्द्र मोदी का है. हमारे परिवार ने सीबीआई अधिकारियों के साथ काफी सम्मानजनक व्यवहार किया है. इसे वो लोग भी याद रखेंगे.

मीडिया से बात करते हुए लालू ने उस मामले से संबंधित कुछ तथ्य भी रखे जिस मामले में सीबीआई ने रेड की है. उन्होंने कहा कि IRCTC का गठन साल 1999 में हुआ था. 2002 में यह फंक्शन में आया. 2003 में रेलवे ने दिल्ली, हावड़ा, रांची और पुरी के होटल IRCTC को हैंडओवर कर दिए थे. इन होटलों को 15 साल की लीज पर दिया गया है.

उन्होंने आगे बताया कि मैं 31 मई 2004 को रेल मंत्री बना जबकि तत्कालीन एनडीए सरकार ने इससे पहले ही IRCTC को इन होटलों को हैंडओवर करने का निर्णय ले लिया था. उन्होंने कहा कि इन होटलों को open tender के माध्यम से दिया गया था.

इससे पहले राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद के पटना स्थित आवास पर सीबीआई की छापेमारी देर शाम ख़त्म हुई. करीब 10 घंटे तक चली छापेमारी के बाद लालू प्रसाद के आवास से सीबीआई अधिकारियों की टीम शाम करीब 5:40 बजे बाहर निकली. इस दौरान सीबीआई अधिकारियों ने उनके आवास की तलाशी ली. डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव और पूर्व सीएम राबड़ी देवी से काफी लंबी पूछताछ भी की गई.

गौरतलब है कि सीबीआई ने 2006 में रेलमंत्री रहे लालू प्रसाद यादव, पत्नी राबड़ी देवी, उनके बेटों के साथ अन्य लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है. इन सभी लोगों पर रांची और पुरी में रेल मंत्रालय द्वारा होटल के लिए जारी टेंडर में धांधली का आरोप है. उस दौरान लालू प्रसाद रेल मंत्री थे. इसी मामले में पटना के साथ ही सीबीआई ने लालू प्रसाद के अन्य ठिकानों पर भी रेड किया है. कुल 12 ठिकानों पर सीबीआई की रेड हुई है. इनमें दिल्ली में 5, पटना में 3, पुरी में 1 और रांची के 2 ठिकानों पर छापेमारी की गई है.

लालू प्रसाद के आवास पर हुई रेड की पूरी कवरेज –

लालू आवास पर CBI रेड ख़त्म, तेजस्वी-राबड़ी से कई घंटों तक पूछताछ, कागजात भी जब्त
EXCLUSIVE : ये है लालू-राबड़ी-तेजस्वी के खिलाफ CBI की FIR, पूरा पढ़िए
12 ठिकानों पर छापेमारी के बीच रांची सीबीआई कोर्ट में पेश हुए लालू प्रसाद
लालू पर CBI का बड़ा खुलासा, होटलों के टेंडर में हुई थी हेराफेरी, राबड़ी व तेजस्वी पर भी FIR
लालू मिट्टी में मिल जाएगा लेकिन नरेंद्र मोदी को भगाकर ही रहेगा, गीदड़भभकी से डरने वाला नहीं हूं
इस्तीफा या बर्खास्तगीः तेजस्वी के सामने हैं सिर्फ दो विकल्प !
सीबीआई रेड पर सुमो ने कहा- नीतीश कुमार का शुक्रिया