राजगीर में लालू की हुंकार, अगस्त में होगी महारैली, एक मंच पर आएगा सारा विपक्ष

lalu-rajgir

राजगीर : बिहार के नालंदा जिले के राजगीर में आयोजित राजद के प्रशिक्षण शिविर को राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद ने संबोधित किया. लालू ने पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं से खुद लालू और तेजस्वी बनने की बात कही. लालू ने अपने संबोधन में भाजपा को बड़ी और पैसे वाली पार्टी करार दिया. लालू ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार देश के संघीय ढांचे को खत्म करना चाहती है. नीति आयोग के इस प्रस्ताव पर कि लोकसभा और विधान सभा के चुनाव एक साथ हों, इस पर करारा हमला बोलते हुए लालू ने कहा कि आने वाले दिनों ने राज्य जिला हो जायेगा और केंद्र मालिक. लालू ने कहा कि इसलिए हमने आप लोगों को यहां बुलाया है.



लालू ने बोला केंद्र पर हमला

लालू ने कहा कि हम सभी विपक्षी पार्टी के नेताओं का आह्वान करते हैं कि केंद्र के खिलाफ पूरी तरह से एकजुट हो जाएं. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान ने भारत के जवानों को मारा-काटा और शव के साथ बुरा सलूक किया. लालू ने पूछा कि कहां है 56 इंच का सीना. लालू ने कहा कि हाल में केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा था कि पाकिस्तान ने अगर कुछ ऐसा-वैसा किया तो वे उसे करारा जवाब देंगे. इतना ही नहीं उसकी सीमा में घुसकर मारने की बात कही थी.

पीएम मोदी पर बोला हमला

लालू ने अपने संबोधन में कहा कि देश पूरी तरह तानाशाही की ओर जा रहा है. केंद्र सरकार सांसद और विधायक के पदों को मटियामेट करना चाहती है. लालू ने कार्यकर्ताओं से अपील की और कहा कि आप स्वयं लालू प्रसाद और तेजस्वी बनिये. पार्टी के लिए होल टाइम काम कीजिए. लालू ने भाजपा को 2019 में आईना दिखाने की बात कही. लालू ने कहा कि पंजाब से लेकर बंगाल तक सभी राज्यों से बात चल रही है. सब लोग एक होंगे तो नरेंद्र मोदी को धराशायी कर देंगे. लालू ने जम्मू कश्मीर पर बोलते हुए कहा कि वहां के लोगों ने पत्थर से खदेड़कर पुलिस वालों को मारा, जबकि वहां बीजेपी की ही सहयोगी सरकार है. लालू ने कहा कि हाल में यूपी में घर में घुसकर एसपी की पिटाई हुई. यदि यह घटना बिहार में हुई होती, तो कहा जाता कि जंगलराज है.

lalu-rajgir

महागठबंधन में कोई फूट नहीं

महागठबंधन में RCP सिंह के बयान के बाद तेज हुई बयानबाजी पर लालू यादव ने कहा कि महागठबंधन में कोई विवाद नहीं है. भाई वीरेन्द्र ने गलतफहमी की वजह से बयान दिया है. उनकी बात को गलत ढंग से भी पेश किया जा रहा है. उनके कहने का अर्थ वह नहीं था जो लगा लिया गया. भाजपा के लोग हमें और नीतीश को लड़ाना चाहते हैं. भाजपा और आरएसएस के इस मंसूबे को हम कभी सफल नहीं होने देंगे.

केन्द्र में महागठबंधन के गठन की कवायद शुरू

लालू प्रसाद ने राजगीर में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए भाजपा और मोदी से टक्कर लेने के अपने इरादे साफ जाहिर कर दिए. लालू ने कार्यकर्ताओं को बताया कि अगस्त में सभी विपक्षी दल भाजपा की देश को तोड़ने वाली नीतियों के खिलाफ एकजुट होने जा रहे हैं. सभी विपक्षी दलों के बड़े नेता जिनमें कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी, उत्तर प्रदेश से बसपा की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती और सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस की मुखिया ममता बनर्जी और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी शामिल होंगे.

इस रैली को लालू यादव का मास्टर स्ट्रोक माना जा सकता है क्योंकि इससे पहले महागठबंधन या फिर तीसरा मोर्चे के गठन की मात्र चर्चा भर होती थी, कभी भी विपक्ष को एक मंच पर लाया नहीं जा सका था. लालू यादव को बिहार में ऐतिहासिक रूप से बड़ी रैलियां करने के लिए जाना जाता है. उनकी रैलियों में पूरे बिहार से लोग शिरकत करने के लिए आते हैं. पूरे बिहार में उनकी यही पकड़ उन्हें किंगमेकर बनाती रही है.