‘ट्वीटर से बाहर आएं और जवानों की सुरक्षा के लिए उचित उपाय करें’

manoj-jha

पटना (नियाज आलम) : राष्ट्रीय जनता दल और भाजपा के वरिष्ठ नेता सुशील मोदी के बीच चल रही जुबानी जंग को लगभग तीन हफ्ते बाद राजद प्रवक्ता मनोज झा ने एक दिन का विराम दिया है. दरअसल एक दूसरे के खिलाफ नित नए खुलासों के बीच मंगलवार को मनोज झा नए और सनसनीखेज खुलासे के वादे के मुताबिक मीडिया से रूबरू तो हुए लेकिन उन्होंने छत्तीसगढ़ के सुकमा में नक्सली हमले में शहीद हुए जवानों के सम्मान में किसी भी राजनीतिक मुद्दे पर बात करने से मना कर दिया.



manoj-jha

झा ने कहा कि वह वादे के मुताबिक आए तो हैं लेकिन नक्सली हमले में देश के 26 सपूत शहीद हुए हैं और ऐसे दुखद समय में राजनीति करना बेईमानी होगी. मीडिया से बातचीत की शुरुआत करते हुए उन्होंने कहा कि सुकमा में नक्सली हमले में शहीद हुए जवानों की शहादत को राष्ट्रीय जनता दल और पूरे बिहार की तरफ से नमन करते हैं. झा ने कहा कि इस दुखद घटना को अपने चरित्र के मुताबिक संजीदगी से लेते हुए कोई राजनीतिक टिप्पणी नहीं करेंगे. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि वह छत्तीसगढ़ और केंद्र सरकार से निवेदन करते हैं कि जवानों की शहादत और उनकी सुरक्षा को लेकर ट्वीटर से बाहर आएं और जवानों की सुरक्षा के लिए उचित उपाय करें.

राजद नेता ने कहा कि वह इस मामले में प्रधानमंत्री से सीधे हस्तक्षेप का आग्रह करते हैं. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि वह सुशील मोदी के खिलाफ नया खुलासा लेकर बुधवार को मिलेंगे. झा ने इतना जरूर कहा कि सुशील मोदी ने सोने की खान मिलने की बात की है. लेकिन यहां एक बारुदी सुरंग है, जो यहां से शुरू होगा तो बहुत आगे तक जाएगा.

यह भी पढ़ें :
मोदी के बाद राजद ने फिर की प्रेस कांफ्रेंस, कहा – 24 घंटों में होगा सनसनीखेज खुलासा
चीनी मिल मजदूरों की लड़ाई में अब पप्‍पू यादव के साथ होंगे स्‍वामी अग्निवेश
दो बच्चों से अधिक वाले प्रत्याशी नहीं लड़ेंगे निकाय चुनाव: पटना हाई कोर्ट