लालू का डैमेज कंट्रोल : हटाए गए प्रवक्ता, भाई बीरेंद्र तलब

पटना (नियाज़ आलम) : राष्ट्रपति चुनाव को लेकर बिहार के महागठबंधन में मचे धमासान के बीच राजद ने अपने नेताओं पर कार्रवाई शुरू कर दी है. पार्टी ने अपने प्रवक्ता अशोक सिन्हा को प्रवक्ता पद से हटा दिया है. पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष डॉ रामचंद्र पूर्वे ने यह कार्रवाई की है. सिन्हा पर न्यूज़ चैनल में डिबेट में हिस्सा लेने के दौरान पार्टी के तय दिशा निर्देश का अनुपालन नहीं करने का आरोप है.

उधर राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने अपने बयानों से जदयू के निशाने पर आये भाई बीरेंद्र को अपने आवास पर तलब किया है. भाई बीरेंद्र ने रविवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हमला करते हुए उन्हें अवसरवादी करार दिया था. राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद के आवास पर पहुंचे भाई बीरेंद्र ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि ये उनका घर है. वो यहां ईद की मुबारकवाद देने आये हैं.

इससे पहले उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने भी राजद के नेताओं को नसीहत दी है. उन्होंने कहा है कि पार्टी के नेता गठबंधन पर कोई भी बयान देने से बचें. बता दें कि लालू प्रसाद की पार्टी के नेता एक के बाद एक विवादित बयान देकर बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार पर हमले कर रहे हैं.

गौरतलब है कि राष्ट्रपति चुनाव को लेकर बिहार के महागठबंधन में तल्खी बढ़ती जा रही है. सोमवार को जदयू के दिल्ली से लेकर बिहार तक के प्रवक्ताओं ने लगातार बयान देकर बिहार की सियासत में हलचल मचा दी है. जदयू के राष्ट्रीय प्रवक्ता केसी त्यागी, एमलएसी नीरज सिंह, प्रवक्ता संजय सिंह से लेकर बिहार प्रवक्ता अजय आलोक तक राजद की हैसियत बताने में जुट गये हैं.

यह भी पढ़ें –
जदयू के संपर्क में कांग्रेस के 6 विधायक, कर सकते हैं क्रॉस-वोटिंग..!!
जदयू ने दिखायी ताकत : राजद को कहा- रघुवंश सिंह और भाई वीरेंद्र को पार्टी से निकालें