‘क्या सेवा, नीतीश हमारी किस गोशाला में झाड़ू लगा रहे थे, बताएं…’

पटना : बिहार विधानसभा में आज शुक्रवार को NDA की नई सरकार के विश्वास मत जीतने के बाद राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव पहली बार कैमरे के सामने आये हैं. उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के आज विधानसभा में दिए गए बयान पर पलटवार किया. साथ ही कहा कि अब वो बिहार में ‘समां’ बांधेंगे. लालू प्रसाद ने कहा कि अब उन्होंने नीतीश कुमार को विदा कर दिया है और भाजपा को भगाने के लिए काम करेंगे. बिहार की जनता को जगायेंगे.

राजद सुप्रीमो ने आज न्यूज़ चैनल ईटीवी से बात करते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर तीखा पलटवार किया. उन्होंने नीतीश कुमार के ‘राजनीति मेवा नहीं, सेवा के लिए’ वाले बयान पर तंज भी कहा. उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार इतने दिन तक किसको मेवा खिलाते रहे, बताएं. वो खुद बैठ कर मेवा खा रहे थे. उन्होंने बिहार की जनता की भी कौन से सेवा की है. नीतीश कुमार कौन सा हमारी गायों का गोबर फेंकते थे. या वो हमारी गोशाला में झाड़ू लगाते थे क्या? लालू ने कहा – हम नीतीश का चाल-चलन सब जानते हैं. वो अब मोदी के चरणों में जाकर बैठ गए हैं.

फाइल फोटो

BJP नीतीश को निकाल न दे

लालू प्रसाद ने इस दौरान कहा कि उन्होंने नीतीश कुमार को विदा कर दिया है. लेकिन उन्हें डर है कि भाजपा कहीं नीतीश कुमार को फिर निकाल न दे. इनका चाल-चलन सब लोग पहले से जानते हैं. हम लोग अब फिर से संघर्ष करेंगे. ‘भाजपा भगाओ, देश बचाओ’ रैली करेंगे. इन्होने डेमोक्रेसी का मर्डर किया है. मोदी के चरणों में जाकर बैठ गए हैं. उन्होंने देश भर की धर्मनिरपेक्ष ताकतों को ठेंगा दिखाया है.

हम संघर्ष करेंगे

लालू प्रसाद ने बिना नाम लिए कहा कि नीतीश को भ्रम में डाल कर उन्होंने बर्बाद कर दिया है भाजपा ने. एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार से क्या लड़ना है. भाजपा से क्या लड़ना है. हम तो बिहार की जनता को तैयार कर रहे हैं. नेताओं को तैयार कर रहे हैं. बिहार की जनता में भी जो भ्रम था, उसे हटायेंगे. बिहार की जनता स्वाभिमानी है. नीतीश कुमार ने किसी गठबंधन धर्म का पालन नहीं किया है. हमारा संघर्ष का रास्ता. हम फिर संघर्ष करेंगे.

यह भी पढ़ें –

केंद्र में मंत्री नहीं बनेंगे, अब संग्राम करेंगे शरद यादव

सुब्रह्मण्यम स्वामी ने बताया – 1994 से चलकर फिर वहीं पहुंचे नीतीश, जानिए कैसे..?

तेवर में तेजस्वी : अगर पुत्र मोह होता तो आज मैं सीएम होता, भाई मोह में फंसे

पहले दी नागपंचमी की बधाई, फिर कहा – बाल-नाख़ून वाला लिफाफा मंगवा लीजिये