लालू ने की मांग : चारों पीठ में शंकराचार्य की नियुक्ति में भी लागू हो आरक्षण

lalu12378.jpg

पटना/राजगीर : पिछले 2 दिनों से जारी राजद का प्रशिक्षण शिविर गुरुवार को समाप्त हो गया. लेकिन प्रशिक्षण शिविर के माध्यम से राजद प्रमुख लालू प्रसाद ने एक नये मुद्दे को हवा दे दी है. उन्होंने मांग की है कि देश के चारों पीठ में शंकराचार्य की नियुक्ति में भी आरक्षण लागू किया जाये. उन्होंने सवाल किया कि इन जगहों पर युगो-युगों से सिर्फ़ एक वर्ण और एक ही जाति का आरक्षण क्यों है.

शिविर के अंतिम दिन राष्ट्रीय कार्यकारिणी में कई अहम मुद्दों पर फैसला हुआ. कार्यकारिणी में यह मांग भी उठी कि भारतीय न्यायिक सेवा में भी आरक्षण को लागू किया जाये. साथ ही कहा गया कि भारतीय न्यायिक सेवा आयोग का भी गठन किया जाये. राजद की कार्यकारिणी में देश भर में अनुसूचित जाति-जनजाति के लिए आरक्षण कोटा भरने की मांग भी उठी. साथ ही राजद की ओर से साफ कहा गया कि आर्थिक भ्रष्टाचार पर नियंत्रण के लिए नोटबंदी देश हित में बिल्कुल नहीं है.

हमलावर मूड में थे लालू

इससे पहले गुरुवार को कार्यकर्ता सम्मेलन के आखिरी दिन लालू प्रसाद हमलावर मूड में दिखे. सम्मेलन में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए उन्होंने केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर सवाल उठाया. उन्होंने कहा कि 2014 में नरेंद्र मोदी ने कहा था कि प्रधानमंत्री बनने पर सब कुछ बदल देंगे. अब सर्जिकल स्ट्राइक वाले मोदी जी बताएं कि सरहद पर देश के जवान क्यों मारे जा रहे हैं?

lalu

27 अगस्त को महारैली

शिविर में आगामी कार्यक्रमों की घोषणा भी की गई. लालू प्रसाद ने कहा कि 27 अगस्त को राजधानी पटना के गांधी मैदान में महारैली होगी. रैली का मुद्दा होगा- भाजपा हटाओ, देश बचाओ. उन्होंने कहा कि इस रैली में देश के सभी धर्मनिरपेक्ष नेताओं को बुलाया जाएगा. हमें एक साथ होकर देश और संविधान को बचाना है. तभी हम बच पाएंगे.

यह भी पढ़ें :

‘सर्जिकल स्ट्राइक वाले मोदी जी बताएं, क्यों मारे जा रहे हैं देश के जवान’

लालू बोले : महागठबंधन में विवाद नहीं, नीतीश से लड़ाना चाहती है भाजपा

राजगीर में लालू की हुंकार, कहा- 2019 में BJP को आईना दिखाएगा महागठबंधन