प्रदेश BJP कार्यकारिणी की बैठक संपन्न, निशाने पर रही नीतीश सरकार

पटना/किशनगंज(नियाज़ आलम): 

किशनगंज में प्रदेश भाजपा कार्यकारिणी की दो दिवसीय बैठक बुधवार को संपन्न हो गई. बैठक में कई प्रस्तावों को पास करने के साथ-साथ समेत बिहार सरकार पर भी जमकर निशाना साधा गया. केंद्रीय मंत्री रामकृपाल यादव ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर जमकर हमला किया. उन्होंने कहा कि नीतीश में हिम्मत नहीं है कि वे लालू के बेटों के भ्रष्टाचार पर कार्रवाई करे सकें. केन्द्रीय मंत्री ने नीतीश कुमार को कमजोर मुख्यमंत्री बताते हुए कहा कि नीतीश के शासनकाल में भ्रष्टाचार बढ़ता जा रहा है. रामकृपाल के अलावा केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने भी नीतीश सरकार पर शब्दों के बाण चलाए.

उन्होंने नीतीश के शासन को ‘जंगलराज पार्ट-2 की संज्ञा दी. उन्होंने आरोप लगाया कि नीतीश कुमार ने सत्ता के लालच में कुशासन के प्रतीक लालू से हाथ मिला लिया. भाजपा को अगले लोकसभा चुनाव में परास्त करने के लिए विपक्षी दलों को एकजुट करने की नीतीश की कोशिश पर भी गिरिराज सिंह ने निशाना साधा. केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि नीतीश कुमार देश के थके हारे लोगों के कुनबे को जमा करके प्रधानमंत्री बनना चाहते हैं, पर उनका यह सपना कभी नहीं पूरा होगा.

‘भारत का हर मुसलमान विशुद्ध रूप से भारतीय’

आजादी के बाद भारत में बसा हर मुसलमान विशुद्ध रूप से भारतीय है, लेकिन जब देश के सैनिकों को पत्थर मारे जाते हैं तो मुसलमानों को पत्थरबाजों के खिलाफ भी आवाज उठानी चाहिए. अल्पसंख्यकों के बारे में पूछे गये एक प्रश्न के उतर में गिरिराज ने जम्मू कश्मीर में सैनिकों पर पत्थरबाजी के संदर्भ में चर्चा करते हुए यह बात कही. उन्होंने लालू और नीतीश पर तुष्टिकरण के सबसे बड़े पुजारी होने का आरोप लगाया. गिरिराज ने कहा कि एआईएमआईएम के असदुद्दीन ओवैसी तो केवल मुखौटा मात्र हैं.

किसानों की समस्या को लेकर सड़क पर उतरेगी भाजपा

किशनगंज के एमजीएम मेडिकल कॉलेज परिसर में आयोजित भाजपा प्रदेश कार्यसमिति की बैठक के पहले दिन किसानों की समस्या पर चर्चा की गई. बैठक में किसानों के प्रति राज्य सरकार की उदासीनता के विरोध में सड़क से सदन तक चरणबद्ध आंदोलन का एलान किया गया. इसके अलावा प्रखंड स्तर पर 15 मई तक मोर्चा व प्रकोष्ठ के गठन की बात कही गई. साथ ही 20 मई से 15 जून तक महासंपर्क अभियान चलाने का निर्णय लिया गया. मुस्लिम महिलाओं के बीच तीन तलाक के मुद्दे पर चर्चा करने के लिए अल्पसंख्यक समाज के लोगों से पहल करने का आग्रह किया गया. साथ ही बैठक में केंद्र सरकार की उपलब्धियों व राज्य सरकार की नाकामियों से जनता को अवगत कराने का निर्णय लिया गया.

ऐसा माना जा रहा है कि भाजपा सीमांचल में अपनी पैठ मजबूत करना चाहती है. जिस इलाके में बैठक की गई वह सीमांचल का इलाका है और वहां अल्पसंख्यकों की संख्या बाकी क्षेत्रों के मुकाबले कहीं अधिक है. पिछले लोकसभा चुनाव में भाजपा को सीमांचल में ही बुरी तरह मात खानी पड़ी थी.

राजगीर RJD सम्मेलन में पत्रकारों और लेखकों को मिला सम्मान
किशनगंज में BJP प्रदेश कार्यसमिति की बैठक शुरू , किसान और तीन तलाक मुख्य मुद्दे