‘ललन चौधरी को सामने लाया मीडिया, तो सरकार ने विप सुरक्षाकर्मियों पर गिराई गाज’

sushil-modi.gif
फाइल फोटो

पटना : भाजपा नेता सुशील मोदी ने ललन चौधरी को सामने लाने के बाद मीडियाकर्मियों के विधान परिषद में प्रवेश पर प्रतिबंध को लेकर बिहार सरकार को घेरा है. उन्होंने आरोप लगाया है कि राबड़ी देवी और हेमा यादव को करोड़ों की संपत्ति दान में देनेवाले विधान परिषदकर्मी ललन चौधरी को लालू प्रसाद और नीतीश कुमार के इशारे पर छुपा कर रखा गया था.

सुशील मोदी ने कहा कि ललन चौधरी को जब मीडिया ने खोज निकाला तो सरकार ने खीझ में आकर विधान परिषद के सुरक्षाकर्मियों पर गाज गिरा दी है. साथ ही ललन चौधरी को मीडिया के सामने लाने के बाद पत्रकारों के विधान परिषद में प्रवेश पर रोक लगा दी गई थी जिसे भाजपा के तीखे विरोध के बाद आज हटाया गया.

sushil-modi.gif
फाइल फोटो

मोदी ने कहा कि पिछले 14 जून को विधान परिषद के लेखा शाखा-2 में कार्यरत ललन चौधरी से मीडियाकर्मियों ने पूछताछ की और उसे दुनिया के सामने लाया. मीडिया की इस कार्रवाई से खफा सरकार के इशारे पर परिषद प्रशासन ने मार्शल त्रिभुवन सिंह, उप मार्शल सीताराम राय, माइकल पोल दास और राजेश्वर राम को शो कॉज नोटिस थमा दिया है. इन सुरक्षाकर्मियों से पूछा गया है कि वे स्थिति स्पष्ट करें कि किस परिस्थिति में और कैसे मीडियाकर्मियों द्वारा परिषद सचिवालय की लेखा शाखा-2 में प्रवेश कर पूछताछ की गई.

उन्होंने कहा कि बीपीएल कार्डधारी और खाली समय में लालू प्रसाद के खटाल में काम करने वाला ललन चौधरी की नियुक्ति राबड़ी देवी के मुख्यमंत्रित्व काल में तत्कालीन विधान परिषद के सभापति जाबिर हुसैन द्वारा चतुर्थवर्गीय कर्मी के पद पर की गई थी. चौधरी ने 2014 में राबड़ी देवी और उनकी बेटी हेमा यादव को पटना की अपनी एक करोड़ की संपत्ति दान कर दी थी.

भाजपा नेता ने कहा कि लालू प्रसाद जब इस दानवीर ललन चौधरी को लोगों के सामने नहीं लाए तो मीडिया ने उसे ढूंढ निकाला. ललन चौधरी की असलियत उजागर होने से घबराई सरकार मीडियाकर्मियों को धन्यवाद देने के बजाय उनके प्रवेश पर रोक और सुरक्षाकर्मियों पर कार्रवाई कर रही है जिसका भाजपा पुरजोर विरोध करती है.

ट्वीट कर किया हमला

सुशील मोदी ने शुक्रवार को कई ट्वीट भी किये जिसमें उन्होंने धान खरीद पर बोनस न दिए जाने को लेकर राज्य सरकार पर हमला बोला. उन्होंने कहा कि सरकार ने चुनावी वर्ष में धान खरीद पर 200 रू. प्रति क्विंटल बोनस दिया था परन्तु चुनाव ख़त्म होते ही नीतीश सरकार ने अगले वर्ष बोनस देने से इनकार कर दिया. परिणामतः 90 लाख MT धान उत्पादन के बावजूद सरकार 18 लाख MT धान भी नहीं खरीद पाई. किसानों को धोखा देने वाली नीतीश सरकार ‘किसान कैबिनेट’ भंग कर किसान समागम का नाटक करती है.

लालू प्रसाद पर वार करते हुए उन्होंने कहा कि वो 18 साल से राजद अध्यक्ष के पद पर तानाशाह की तरह काबिज हैं. एक क्षेत्रीय पार्टी को पारिवारिक पार्टी में बदलने वाले लालू प्रसाद किस मुंह से भाजपा के आंतरिक लोकतंत्र पर टिप्पणी कर रहे हैं?

GST से सस्ते होंगे आम उपयोग के सामान

सुशील मोदी ने कहा कि जीसटी लागू होने से सुबह की चाय, बच्चों के दूध पाउडर, दोनों शाम के भोजन में काम आने वाले अनाज, चूल्हा जलाने के लिए किरोसिन-रसोई गैस और गरीबों के काम आने वाले कपड़े, जूते-चप्पल तक सस्ते होंगे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तीन साल में सबके जीवन में खुशहाली लाने का इंतजाम किया.

यह भी पढ़ें –
‘अब फरार है राबड़ी देवी को जमीन गिफ्ट करने वाला ललन चौधरी’
केंद्र किसानों को दे रहा लाभ, राज्य सरकार भी करें उनकी चिंता : सुशील मोदी
‘आपका साथ मिलता ही रहा है, नाराजगी मोदी भजन में जुटे आपके मालिकों से है’