‘लालू के खिलाफ खुद नीतीश सुप्रीम कोर्ट तक गए थे…अब बचाव कर रहे हैं’

sushil-modi_0
डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी (फाइल फोटो)

पटना : राजद प्रमुख लालू प्रसाद की बेनामी सम्पति को लेकर उनपर हमलावर भाजपा नेता सुशील मोदी ने कहा है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार तेजप्रताप और तेजस्वी यादव के खिलाफ कार्रवाई करने में न केवल बेचारे हो गए हैं बल्कि उनका बचाव भी कर रहे हैं.

उन्होंने कहा कि जब सोनिया गांधी के निर्देश पर लालू प्रसाद के खिलाफ आय से अधिक सम्पति मामले को सीबीआई ने हाई कोर्ट में चुनौती नहीं दी तो नीतीश कुमार खुद सुप्रीम कोर्ट तक गए थे.

मोदी ने कहा कि लालू प्रसाद की 2006 में अधोषित 46 लाख की सम्पति आज 10 वर्षों में बढ़ कर 1000 करोड़ रुपये हो गई है, मगर राज्य सरकार उसे जब्त करने व भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत कार्रवाई करने की हिम्मत नहीं जुटा पा रही है.

डीए केस (Disproportionate Case) में लालू प्रसाद ने कहा कि दहेज में मिली एक बाछी के बच्चों से 70 गायें हुईं जिसके दूध और दही को बेच का उन्होंने अतिरिक्त सम्पति अर्जित किया है.

उन्होंने कहा कि केन्द्र की कांग्रेस सरकार का लाभ उठा कर लालू ने आयकर अपीलीय प्राधिकार और सीबीआई विशेष कोर्ट के स्पेशल पीपी व जज तक को बदलवा कर मामला खारिज करा लिया था.

sushil-modi_0
फाइल फोटो

भाजपा नेता ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से सवाल किया कि क्या वो बिहार विशेष न्यायालय अधिनियम, 2009 जिसके तहत भ्रष्टाचारियों की सम्पति जब्त करने का प्रावधान है, तथा भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के अन्तर्गत इन दोनों (तेजप्रताप और तेजस्वी यादव) के खिलाफ आय से अधिक सम्पति का मामला दर्ज कर बिहार की छवि खराब कर रहे दोनों मंत्रियों को बर्खास्त करेंगे?

यह भी पढ़ें :
तमाम विवादों के बाद पहली बार लालू ने इस मुद्दे पर कुछ कहा है, पढ़िये..
बड़ा आरोपः 1997 में बेउर जेल से ही सरकार चला रहे थे लालू
सुमो Vs आरजेडीः ‘पहले उमा, आडवाणी और जोशी से इस्तीफा मांगे सुशील मोदी