सुमो अटैकः लालू प्रसाद के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट जाए बिहार सरकार

पटना (नियाज आलम) : बेनामी संपत्ति के आरोप में घिरे राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद की मुस्किलें थमने का नाम नहीं ले रही हैं. फिलहाल एक निजी चैनल पर लालू यादव और पूर्व बाहुबली सांसद मो. शहाबुद्दीन की बातचीत का टेप जारी होने के मामले ने आग में घी का काम किया है. सुशील मोदी ने इस मामले में लालू के खिलाफ आपराधिक मुकदमा दर्ज कराने की मांग की है.

उन्होंने कहा कि अपराधियों के संपर्क में रहना और उसे संरक्षण देना भी अपराध है. लालू चारा घोटाला मामले में जमानत पर हैं. जमानत कुछ शर्तों के साथ मिलती है. लालू बाहर रह कर अपराधियों के साथ मिलकर सरकार को प्रभावित कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि जिस तरह से बिहार सरकार भाजपा के दबाव में शहाबुद्दीन की जमानत के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट गई थी. उसी तरह लालू की जमानत के खिलाफ भी सुप्रीम कोर्ट जाए.

बिहार पुराने दिनों की तरफ लौट रहा है

मोदी ने कहा कि बिहार फिर से अपने पुराने दिनों की तरफ लौट रहा है. आज ऐसे हालात होने लगे हैं जैसे राजद की सरकार के समय थे. उन्होंने कहा कि आज नीतीश, लालू पर निर्भर हैं और लालू साहाबुद्दीन जैसे अपराधी के निर्देश पर सरकारी अधिकारियों को निर्देश दे रहे हैं. उन्होंने बिहार सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि पिछले वर्ष रामनवमी के समय सीवान जेल में बंद दुर्दांत अपराधी मो. शहाबुद्दीन और लालू यादव की बातचीत का टेप सार्वजनिक होने से यह प्रमाणित हो गया है कि अपराधियों के निर्देश पर बिहार सरकार चल रही है.

उन्होंने कहा कि आखिर 50 से ज्यादा मुकदमों का आरोपी और सजायाफता अपराधी कैसे जेल से लालू के संपर्क में रहता था. उन्होंने कहा कि टेप से यह भी साबित हो गया है कि शहाबुद्दीन जेल से समानांतर सरकार चला रहा था और सरकारी अधिकारियों को धमकी दिया करता था. मोदी ने कहा कि राज्य के अपराधी लालू के माध्यम से डीएम, एसपी व अन्य सरकारी अदिकारियों को धमकी दे रहे हैं.

सुशासन की चादर मैली हो गई है- मंगल पाण्डेय

राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद और शहाबुद्दीन के जेल से बातचीत का ऑडियो वायरल होने पर भाजपा नेता और विधान परिषद के सदस्य मंगल पाण्डेय ने नीतीश सरकार को आड़े हाथों लिया है. मंगल पाण्डेय ने कहा है कि जिस तरह से एक अपराधी जेल से लालू यादव को निर्देशित कर रहा है, ये चिंता की बात है. शाहबुद्दीन जैसा अपराधी सरकारी अधिकारी के संबंध में कुछ बोलता हैं. उन्होंने कहा की इससे साफ पता चलता है की सरकार अपनी सोच और अपनी ताकत से नहीं चल रही है.

मंगल पाण्डेय ने कहा कि वो इस मामले को जनता के बीच लेकर जाएंगे. उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हमला करते हुए कहा कि नीतीश कुमार सुशासन की चादर ओढ़ कर बैठे हैं. लेकिन उनके सुशासन की चादर अब मैली हो चुकी है. भाजपा उनकी सच्चाई जनता के सामने लाएगी.

लालू-शहाबुद्दीन टेपः CM नीतीश ने बुलाई DGP समेत टॉप-कॉप्स की बैठक
लालू-शहाबुद्दीन का टेप आया सामने, देश की सियासत गरम