पीएम के 1.65 लाख करोड़ के पैकेज से ही बिहार में हो रहा है विकास – सुशील मोदी

पटना : भाजपा के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी सत्ताधारी राजद और जदयू द्वारा प्रधानमंत्री मोदी के बिहार के विशेष पैकेज पर सवाल उठाये जाने को लेकर जवाब दिया है.

उन्होंने कहा कि दो वर्ष पूर्व घोषित 1.65 लाख करोड़ की पैकेज की राशि से बिहार में तेजी से विकास का काम प्रारंभ कराने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह बधाई के पात्र हैं.

राज्य सरकार बताये कि क्या महात्मा गांधी सेतु की मरम्मत के लिए स्वीकृत 1700 करोड़ रुपये और बिहार की दर्जनों महत्वपूर्ण सड़क परियोजनाओं पर जो हजारों करोड़ का काम हो रहा है वह पैकेज की राशि नहीं है?

मोदी ने कहा कि बिहार सरकार ने अगर दीघा-सोनपुर सड़क पुल के एप्रोच रोड का काम समय से पूरा कर लिया होता तो महात्मा गांधी सेतु की मरम्मत का काम कब का प्रारंभ हो गया होता. प्रधानमंत्री के वायदों के अनुरूप बिहार के लिए घोषित पैकेज की राशि से अधिकांश योजनाओं पर काम शुरू हो गया है.

उन्होंने आरोप लगाया कि केन्द्र सरकार द्वारा भूमि अधिग्रहण मद में चार गुना राशि उपलब्ध कराये जाने के बावजूद राज्य सरकार जानबूझ कर भूमि अधिग्रहण में विलम्ब करती है ताकि समयबद्ध परियोजनाओं के पूरा होने का श्रेय मोदी सरकार को न मिल जाए.

मोदी ने सवाल किया कि सिमरिया-खगड़िया, पटना-गया-डोभी, कोईलवर-आरा, छपरा-हाजीपुर, पूर्णिया-मधेपुरा (एनएच-107), शिवहर-जयनगर-नरहिया (एनएच-104), वीरपुर-उदाकिशुनगंज (एनएच-106) तथा पटना-हरनौत-बाढ़ जैसी महत्वपूर्ण सड़कों का निर्माण क्या राज्य सरकार करा रही है? नीतीश कुमार बतायें कि क्या इन सड़क परियोजनाओं पर खर्च होने वाली भारी-भरकम राशि प्रधानमंत्री द्वारा घोषित पैकेज का हिस्सा नहीं है?

भाजपा नेता ने बताया कि इसके अलावा गंगा नदी पर महात्मा गांधी सेतु के बगल में फोर लेन पुल, सोन नदी पर नौहट्टा के पास पुल और 1200 किमी नए एनएच की डीपीआर का काम लगभग अंतिम चरण में है. केन्द्र ने पैकेज में जो वायदा किया है उसकी एक-एक योजना का काम प्रगति पर है.

इसे भी पढ़ें –
राजद की सलाह – सुमो के चंगुल में न फंसें नित्यानंद, बिहार को दिलाएं विशेष पैकेज
जदयू का पलटवार – बीजेपी झूठ की खेती करने में माहिर, केंद्र के पास कोई रणनीति नहीं