बिहार में BJP के खिलाफ तृणमूल भी लड़ेगी, ममता करेंगी चुनाव प्रचार

mamta-banarjee12
फाइल फोटो

पटना : देश में लोकसभा चुनावों की आहट सुनाई देने लगी है. भाजपा तो अपने मिशन 2019 में लगी ही है. बिहार में विपक्ष भी अब लोकसभा चुनावों में उतरने की योजना बनाने लगा है. इसी कड़ी में बिहार में एक नई सियासी लड़ाई को अंजाम देने के लिए पड़ोसी पश्चिम बंगाल में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस ने भी आगामी आम चुनाव में बिहार में दस्तक देने की योजना बनाई है. बताया जा रहा है कि पार्टी बिहार में अपनी नेता पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के नेतृत्व में चुनाव में उतरेगा.

पार्टी के बिहार प्रभारी अर्जुन सिंह ने आज शनिवार को कहा है कि उनकी पार्टी आगामी आम चुनावों में बिहार में कई रैलियां आयोजित करेगी. इनमें मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भी शामिल होंगी. उन्होंने हालांकि यह तो नहीं बताया कि पार्टी बिहार में अपने उम्मीदवार उतारेगी या नहीं, लेकिन इसके स्पष्ट संदेश दिए हैं कि पार्टी इस बार बिहार में एक्टिव रहेगी. उन्होंने कहा कि पार्टी भाजपा से लड़ने में अपनी पूरी ताकत लगा देगी.

गौरतलब है कि तृणमूल कांग्रेस देश की सातवीं राष्ट्रीय पार्टी बन गई है. चार प्रदेशों में राज्य को पार्टी के रूप में मान्यता होने की शर्त को तृणमूल कांग्रेस ने पूरा कर लिया है. तृणमूल कांग्रेस पश्चिम बंगाल के अलावा मणिपुर, त्रिपुरा और अरुणाचल प्रदेश में भी राज्य की मान्यता प्राप्त पार्टी है.

बता दें कि ममता बनर्जी अगस्त माह में हुई राजद की रैली में भी शामिल हुई थीं. इस दौरान उन्होंने केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर जमकर हमला किया था. बनर्जी ने मोदी के न्यू इंडिया पर प्रहार करते हुए कहा था कि पहले 2019 का चुनाव तो जीतो, फिर 2022 की बात करना.

इससे पहले बनर्जी ने पिछले बिहार विधानसभा चुनावों के दौरान भी राजद-जदयू-कांग्रेस के महागठबंधन को अपना समर्थन दिया था. महागठबंधन की जीत पर पर पार्टी कार्यकर्ताओं ने कोलकाता में जश्न भी मनाया था और इसे ‘दीदी इफ़ेक्ट’ करार दिया था.