सुशील मोदी को ये क्या कह दिया गिरिराज ने, भाजपा में ही एक-दूसरे से पूछ्ने लगे लोग

पटना : केंद्रीय सूक्ष्म एवं लघु उद्योग राज्य मंत्री गिरिराज सिंह नई दिल्ली में पिछले दिनों अहले सुबह बेड से गिरने के बाद बेहोश हो गए थे. फिर उन्हें राम मनोहर लोहिया अस्पताल ले जाया गया था. चोट लगी थी. कई दिनों तक अस्पताल में रहे. अब बंगले पर लौट आये हैं, फिर भी आम दिनचर्या में आने में थोड़ा वक़्त लगेगा. चेहरे से भी बीमार दिखते हैं.

गिरिराज सिंह का कुशलक्षेम बहुतों ने जाना. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी फोन किया था. आज मंगलवार को गिरिराज सिंह का हाल जानने सुशील कुमार मोदी गए थे. दोनों के बीच काफी देर तक बातचीत हुई. स्वास्थ्य और बिहार के हालात को लेकर. दोनों नेता ट्विटर फ्रेंडली हैं. अपनी बातें ट्विटर पर रखते हैं. दोनों के फॉलोवर्स लाखों में हैं.

GIRI1

सुशील मोदी के आने और मिलने की खबर गिरिराज सिंह ने ट्वीट कर दी. साथ में मुलाक़ात के दो फोटो भी अपलोड किये. लेकिन सुशील मोदी की पहचान बताने को गिरिराज सिंह ने अपने ट्वीट में जिन शब्दों का चयन किया, उसे लेकर बिहार भाजपा के भीतर ही फुसफुसाहट शुरु हो गई. सुशील मोदी का जब भी कोई परिचय दिया जाता है, तो भाजपा क्या दूसरे दल के लोग भी उन्हें बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम, भाजपा के वरिष्ठ नेता व जेपी आंदोलन के सेनानी के रूप में संबोधित करते हैं.

पर आज गिरिराज सिंह ने इन सबों से इतर सुशील मोदी का परिचय बस ‘बिहार भाजपा के वरिष्ठ कार्यकर्ता’ के रूप में दिया. आगे उन्होंने डिप्टी सीएम लिखने के बजाये ‘बिहार कैबिनेट के पुराने साथी’ मात्र बताया. जैसे ही यह ट्वीट आया, चर्चा भाजपा कार्यालय में शुरु हुई. लोग एक-दूसरे से पूछने लगे कि गिरिराज सिंह ने जैसा परिचय सुशील मोदी के लिए लिखा है, क्या वह ठीक है? कई सहमत थे तो ढेर सारे असहमत भी थे.

इसे भी पढ़ें –
अस्पताल ने बहुत कुछ सीखा दिया गिरिराज को, जानिये क्या..
गिरिराज का ट्विटर पोलः पूछा- क्या मेजर गोगोई के विरोधी ‘पाक’ समर्थक
गिरिराज अब भी अस्पताल में, नीतीश ने पूछा कुशलक्षेम