सरकारें पेश कर रहीं देश में गुजरात मॉडल पर कोरोना मौत की रिपोर्ट, जाप सुप्रीमो ने एससी से की स्वत: संज्ञान लेने की अपील

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: जाप सुप्रीमो ने देश भर में कोरोना संक्रमण और उसकी मौत के मामलों में सरकार की रिपोर्ट को ही कटघड़े में खड़ा कर दिया है. उन्होंने कहा कि देश भर में कोरोना संक्रमण से मौत मामलों को गुजरात मॉडल पर पेश किया जा रहा है. उन्होंने खुलासा किया कि गुजरात सरकार का दावा है कि राज्य में मात्र 3576 लोगों की संक्रमण से मौत हुई, जबकि यहां अहमदाबाद के सिर्फ एक अस्पताल में 3416 लोगों के मौत की पुष्टि हो चुकी है.

जाप सुप्रीमो ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट इस मामले में स्वत: संज्ञान ले और पूरे देश में कोरोना से हुई मौत मामलों की निष्पक्षता तथा पारदर्शिता के साथ गणना करवाए. कहा, कि अगर यह जांच पूरी निष्पक्षता के साथ की गई तो देश भर में संक्रमण से मौत के मामले 50 लाख के आंकड़े को भी पार कर जाएंगे. उन्होंने कहा कि इसके बाद प्रवचनकत्र्ता चाचा मुंह छिपाते नजर आएंगे.

इससे पहले भी कई राष्ट्रीय और क्षेत्रीय पार्टियों ने कोरोना मौत मामलों पर सरकारों की ओर से पर्दा डालने का आरोप लगाया था. दल के नेताओं का कहना था कि सरकार कोरोना संक्रमण और मौत के मामलों को कमतर लोगों के सामने ला रही हैं. इसके बाद जाप सुप्रीमो ने मंगलवार के दिन कोरोना मौत मामलों के सरकारी रिपोर्ट को चुनौती दे डाली.