सरकार की तैयारियों पर हाईकोर्ट नाराज, 17 को देना होगा कोरोना बचाव तैयारियों का लेखा_जोखा

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: बड़ी खबर है कि कोरोना की आग में झुलस रहे राज्य के हालात देखते हुए हाईकोर्ट ने सरकार की क्लास लगा दी है. महामारी से निपटने की दिशा में राज्य सरकार के इंतजाम पर पटना हाईकोर्ट ने काफी नाराजगी व्यक्त की है. जस्टिस सी एस सिंह की खंडपीठ ने गौरव कुमार सिंह की जनहित याचिका पर विशेष सुनवाई की और कोर्ट ने राज्य सरकार से 17 अप्रैल तक कोरोना से निपटने की तैयारियों का ब्योरा मांगा है.

राज्य में कोराना ने अब महामारी का रूप ले लिया है. अभी तक सैकड़ों लोगों की मौत हो चुकी है. अस्पतालों में ऑक्सीजन के लिए हाहाकार मचा हुआ है. अस्पतालों में बेड तक फुल हो चुके हैं. कई राजनेता और ओहदेदार अफसर तक कोरोना की चपेट में आ चुके हैं. जिला स्तर पर हर दिन दर्जनों की संख्या में कोरोना के मरीज पाए जा रहे हैं.

स्थिति की भयावहता को देखते हुए राज्यपाल ने 17 अप्रैल को सर्वदलीय बैठक बुला रखी है. इस बैठक में कोरोना महामारी से राहत की दिशा में सरकार के कई बड़े फैसले लिए जाने की संभावना है. जिला स्तर पर प्रशासन को भी सरकार की ओर से कई सख्त निर्देश दिए गए हैं, जिसमें सामाजिक दूरी बनाए रखने और मास्क, सेनेटाइजर इस्तेमाल आदि नियमों को कड़ाई से लागू करने के आदेश दिए गए हैं. इसके बाद भी प्रदेश में महामारी रूकने की बजाय दिनों दिन भयावह रूप ले जा रही है. इसी समस्या को लेकर हाईकोर्ट में दाखिल एक जनहित याचिका पर कोर्ट ने राज्य सरकार को तलब किया है.