ये कैसी व्यवस्था : भेड़-बकरी की तरह बैठ कर दे रहे परीक्षा

पटना (जुलकर नैन) : बिहार शिक्षा परियोजना परिषद की ओर से आज से बिहार के सभी माध्यमिक और प्राथमिक विद्यालयों में अर्धवार्षिक परीक्षा लिया जा रहा है. इसी के तहत फतुहा नगर परिषद के स्टेशन रोड स्थित नवीन भारती उत्कर्मीक मध्य विद्यालय में भी परीक्षा कार्य चल रहा है. लेकिन इस स्कूल की व्यवस्था देख कर आप हैरान रह जायेंगे.

इस स्कूल में भेड़ बकरियों की तरह छात्रों को कमरे की फर्श पर ही बिठा कर परीक्षा लिया जा रहा है. एक छोटे कमरे में पचास से अधिक बच्चों  को बिठाया गया है. ऐसे में शिक्षा की गुणवत्ता क्या मिलेगी ये तो तस्वीरे देख ही बताया जा सकता है. सबसे बड़ी बात है कि परीक्षा वाले कमरे
में रौशनी भी नही है. बच्चे अंधेरे में परीक्षा दे रहे हैं. इस अंधेरे का फायदा बच्चे भी खूब उठा रहे हैं. बच्चे  एक दूसरे का नकल कर कॉपी लिख रहे हैं.

प्रधानाचार्य ने बताया कि यह स्कूल भूमिहीन है और लगभग चालीस वर्षो से छह कमरे वाले किराये के खंडहरनुमा मकान में चल रहा है. जिसमे पांच कमरे बच्चों की पढ़ाई के लिए है. इस स्कूल में बच्चों के लिए फर्नीचर की भी व्यवस्था नहीं है. फर्श पर ही बच्चे पढ़ाई करते हैं. जबकि मुख्य बाजार का स्कूल होने के कारण यहाँ 900 बच्चे नामांकित हैं. उन्होंने कहा कि सिस्टम खराब होने के करण हमलोग मजबूर हैं. गौर करने वाली बात है कि क्या ऐसे सिस्टम के सहारे बिहार में शिक्षा व्यवस्था में सुधार होगी.

 स्मार्ट बनिए आ रही DIWALI में, अपने Love Bird को दीजिए Diamond Jewelry
अभी फैशन में है Indo-Western लुक की जूलरी, नया कलेक्शन लाए हैं चांद बिहारी ज्वैलर्स
PUJA का सबसे HOT OFFER, यहां कुछ भी खरीदें, मुफ्त में मिलेगा GOLD COIN
मौका है : AIIMS के पास 6 लाख में मिलेगा प्लॉट, घर बनाने को PM से 2.67 लाख मिलेगी ​सब्सिडी
RING और EARRINGS की सबसे लेटेस्ट रेंज लीजिए चांद​ बिहारी ज्वैलर्स में, प्राइस 8000 से शुरू
चांद बिहारी अग्रवाल : कभी बेचते थे पकौड़े, आज इनकी जूलरी पर है बिहार को भरोसा

(लाइव सिटीज मीडिया के यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)