‘सिलेंडर बम’ बिक रहे हैं पटना में , राजधानी में फूटेंगें पांच करोड़ के पटाखे

लाइव सिटीज डेस्क : पटना में बिक रहे हैं ‘सिलेंडर बम’. खास बात कि यह बच्चों को खूब भा रहा है. इसे देखते ही वे लेने को मचल पड़ते हैं. जी हां, यह सब हो रहा पटाखे की दुकानों में. ‘सिलेंडर बम’ की डिमांड कुछ अ​धिक है.

डरने वाली बात नहीं है. यह ‘सिलेंडर बम’ कोई सच की नहीं है. बस पटाखे की शक्ल घर के एलपीजी सिलेंडर की दे दी गयी है. फिर क्या है, यह बच्चों को काफी अट्रैक्ट कर रहा है. देखने में यह बिल्कुल गैस सिलेंडर जैसा लगता है. दाम भी इतना कम की, आप लिये बिना नहीं रह सकते हैं. बस 10 से 15 रुपये में यह ‘सिलेंडर बम’ आप भी ले सकते हैं. यदि आप बच्चों को दुकान पर ले गये तो समझिये खरीदना तय है.

पटना में बिक रहे पटाखों में से यह तो हुई एक बम की बात. पटना जंक्शन का इलाका हो या राजा बाजार, शेखपुरा, बोरिंग रोड, पाटलिपुत्रा, अशेाक राजपथ की बात हो. इसी तरह, कंकड़बाग, हनुमान नगर, अशोक नगर, लोहानीपुर, राजेंद्र नगर, भूतनाथ रोड की बात हो. पटाखों की लाइसेंसी दुकानें ही नहीं, गैरलाइसेंसी दुकानों की भी भरमार है. वहीं पटना सिटी तो पटाखों की पूरे बिहार की मंडी है.

सूत्रों की मानें तो इस बार 5 करोड़ के पटाखे फूटने की उम्मीद है. क्योंकि, इस दीपावली पर पटाखे के थोक विक्रेताओं को 5 करोड़ के पटाखे बिकने की उम्मीद है. ऐसे में उतने की तो आतिशबाजी तय है. सूत्रों के अनुसार नया आइटम पटाखे में सिलेंडर बम के अलावा भी कई फैंसी बम इस बार मार्केट में बिक रहे हैं. वहीं ट्रेडिशनल पटाखे का जलवा भी कम नहीं है. सबसे ज्यादा डिमांड ट्रेडिशनल पटाखे में नागिन का. हां, उसकी कीमत भले ही इस बार 25 रुपये है.

 

खास बात कि इस बार केले के पेड़ की बिक्री राजधानी में जबर्दस्त है. सबसे ज्यादा बिक्री इसकी एग्जिबिशन रोड में हो रही है. दरअसल दीपावली में दुकानों, संस्थानों, प्रतिष्ठानों आदि के गेट को केले के थंब से सजाने की परंपरा है. इन दिनों यह फैशन में भी शामिल हो गया है. इसकी डिमांड को देखते हुए केले के थंब की बिक्री इस बार जोरों पर है. वहीं अब लक्ष्मी गणेश की मूर्ति की बिक्री भी अंतिम चरण में है. कई बाहरी दुकानदार तो अब अपना माल बेचकर लौट भी गये. वहीं स्थानीय दुकानदार मूर्ति की दुकानों को लगाये हुए हैं.