नीतीश की मांग को गिरिराज सिंह ने दिया ‘झटका’

giriraj-singh, tejashwi yadav, mujaffarpur case

लाइव सिटीज डेस्क : एक बार फिर केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह चर्चा में हैं. इस बार वे बिहार के विशेष राज्य का दर्जा देने की मांग मामले को लेकर चर्चा में हैं. उन्होंने नीतीश कुमार की मांग को एक सिरे से खारिज कर दिया है. उन्होंने साफ कहा है कि बिहार में विशेष राज्य दर्जा की मांग नहीं, विकास की बात होनी चाहिए. यह मामला पॉलिटिकल कॉरिडोर में चर्चा का विषय बना हुआ है.

दरअसल केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने शेखपुरा के बरबीघा में पत्रकारों से बात करने में उक्त बातें कहीं. उन्होंने एक तरह से इशारों इशारों में बिहार के सीएम नीतीश कुमार की मांग को खारिज कर दिया है. बता दें कि सीएम नीतीश कुमार काफी दिनों से बिहार को ‘विशेष राज्य का दर्जा’ देने की मांग केंद्र से करते आ रहे हैं. लेकिन इधर गिरिराज सिंह ने साफ कहा कि बिहार को विशेष राज्य का दर्जा नहीं, विकास की जरूरत है. यहां विकास की बात होनी चाहिए.

गिरिराज सिंह ने यह भी कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोकसभा चुनाव के पहले बिहार को विशेष पैकेज देने की बात कही थी, जिस पर काम हो रहा है. किश्तों में राशि आ रही है. इतना ही नहीं, पिछले दिनों बिहार को बाढ़ से भारी क्षति हुई थी, उसके लिए भी केंद्र की मोदी सरकार काफी मदद कर रही है.

बता दें मुख्यमंत्री नीतीश कुमार एक अरसे से केंद्र सरकार से बिहार को ‘विशेष राज्य’ का दर्जा देने की मांग करते आ रहे हैं. महागठबंधन की सरकार के समय भी उन्होंने नरेंद्र मोदी के समक्ष इस मांग को उठाते रहे हैं. इसके पहले भी वे विशेष राज्य का दर्जा देने की मांग करते रहे थे. इसे लेकर बिहार में अभियान भी चलाया गया था. लेकिन अब केंद्र और बिहार दोनों जगह एनडीए की सरकार है. लेकिन शुक्रवार को गिरिराज सिंह के इस बयान से नीतीश कुमार के अभियान को झटका लगा है.

इसे भी पढ़ें :

RING और EARRINGS की सबसे लेटेस्ट रेंज लीजिए चांद​ बिहारी ज्वैलर्स में, प्राइस 8000 से शुरू
PUJA का सबसे HOT OFFER, यहां कुछ भी खरीदें, मुफ्त में मिलेगा GOLD COIN
अभी फैशन में है Indo-Western लुक की जूलरी, नया कलेक्शन लाए हैं चांद बिहारी ज्वैलर्स
मौका है : AIIMS के पास 6 लाख में मिलेगा प्लॉट, घर बनाने को PM से 2.67 लाख मिलेगी ​सब्सिडी

(लाइव सिटीज मीडिया के यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)