अच्छी पहल : अश्लील गीतों के खिलाफ लड़कियों ने कसी कमर

लाइव सिटीज डेस्क : महिला सशक्तीकरण का असर अब गांव-गांव तक होने लगा है. इसकी गूंज गलियों में भी पहुंचने लगी है. ऐसा ही कुछ देखने को मिला मधुबनी में. वहां लड़कियां अश्लील गानों के विरोध में सड़क पर आ गयीं और जमकर नारेबाजी की.

जानकारी के अनुसार मधुबनी के बेनीपट्टी का यह मामला है. अश्लील गानों से लड़कियां परेशान हो गयी थीं. उन्हें स्कूल-कॉलेज जाते शर्मसार होना पड़ता था. आॅटो से लेकर दुकानों तक में इस तरह के गाने बजाये जाने से राह चलते परेशानी हो रही थी. जब पानी सिर से ऊपर चला गया तो लड़कियों ने आंदोलन करने की ठानी.

सूत्रों के अनुसार बेनीपट्टी में गंगौर की संस्था अभियान ने इसकी पहल की. अश्लील भोजपुरी गीतों के खिलाफ मोर्चा संभाला. उन्होंने पहले इसके लिए गांव-गलियों की लड़कियों को जागरूक किया. इसके बाद सबों के साथ सड़क पर उतर गयीं.

संस्था की संचालिका बिट्टू कुमारी मिश्रा व जनाधिकार पार्टी की छात्र परिषद की प्रदेश उपाध्यक्ष प्रिया राज के नेतृत्व में यह मार्च निकाला गया. बेनीपट्टी के शांति निकेतन स्कूल से लेकर बैंक चौक होते हुए हाईस्कूल के बाजार चौक तक लड़कियों ने मार्च निकाला.

लड़कियों का जोश मार्च में देखते ही बन रहा था. नारी का सम्मान जहां है, संस्कृति का उत्थान वहां है, अश्लील गाना बंद करो जैसे नारों से शहर गूंज रहा था. संस्था की पदाधिकारियों की मानें तो आज समाज में अश्लील गीतों का प्रचलन इस कदर है कि लड़कियों को घर से निकलने में परेशानी होती है. उन्हें बीच बाजार में शर्मसार होना पड़ता है. इसके खिलाफ हमलोगों का आंदोलन शुरू है और आगे भी जारी रहेगा.