यही है पॉलिटिक्स : राजद ‘आॅफर’ दे रहा है तो जदयू को ‘उम्मीद’ है…

लाइव सिटीज डेस्क : यही है बिहार की पॉलिटिक्स. कोई आॅफर दे रहा है तो किसी को उम्मीद है. यह सब देखने को मिल रहा है बिहार की सियासत में. बिहार के पॉलिटिकल कॉरिडोर अभी सबसे ज्यादा राजद और जदयू छाया हुआ है. ऐसे में वार-पलवार भी इन्हीं दोनों दलों में सबसे ज्यादा हो रहे हैं. बयानों की जंग में ‘आॅफर और उम्मीद’ भी छाये हुए हैं. राजद ने कल आॅफर दिया था तो जदयू को उम्मीद है.

आॅफर
बता दें कि इन दिनों डेली नये-नये बयान आ रहे हैं. इसी कड़ी में मंगलवार को राजद ने बड़ा बाउंसर उछाल दिया. राजद के प्रवक्ता व विधायक भाई वीरेंद्र ने ऐसा आॅफर दे दिया, जिससे जदयू तिलमिला गया. भाई वीरेंद्र ने कहा कि लालू प्रसाद सीधे आदमी हैं और ऐसे में नीतीश कुमार उनसे माफी मांग लें तो हम विचार कर सकते हैं. नीतीश कुमार ने ही कहा था कि लालू प्रसाद बड़े भाई हैं और वे छोटे भाई हैं. एेसे में बड़े भाई से माफी मांग लेंगे तो कोई कुछ कहेगा भी नहीं. वे छोटा भाई समझ कर माफ भी कर देंगे. लालू जी मन में कोई बात नहीं रखते हैं. हालांकि इसका जदयू प्रवक्ता निखिल मंडल ने करारा जवाब दिया था. निखिल रंजन ने कहा कि एेसी बयानबाजी राजद को शोभा नहीं देता है. राजद नेताओं की इतनी औकात नहीं कि वो नीतीश कुमार से माफी मांगने को कहें.

उम्मीद
अब करते हैं उम्मीद की बात. नये मामले में जदयू नेताओं को उम्मीद है कि बागी शरद यादव की घर वापसी हो सकती है. उनके नेताओं में इस बात की उम्मीद है कि शरद यादव लालू का दामन झटक जदयू के साथ आ सकते हैं. यह उम्मीद उनके काफी करीबी बिहार के मंत्री विजेंद्र यादव को है. उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस में पार्टी लाइन से हटकर शरद यादव के लिए उम्मीद जतायी है. हालांकि कॉन्फ्रेंस में जल संसाधन मंत्री ललन सिंह ने शरद यादव पर थोड़ी चुटकी भी ली और लालू प्रसाद पर तंज भी कसा. वहीं ललन सिंह के इशारों के बाद विजेंद्र ने बिना देर किए कहा कि वो पार्टी के वफादार हैं और आगे भी रहेंगे.

फ्लैशबैक
गौरतलब है कि 25 सितंबर को जदयू के बागी सांसद शरद यादव इन दिनों बिहार दौरे पर हैं. बुधवार को दौरे का तीसरा दिन है. लेकिन जब वे 25 सितंबर को पटना एयरपोर्ट पहुंचे थे तो उनके नजदीकी रहे अर्जुन राय ने लंबा तीर छोड़ा था. मीडिया से कहा था कि उनके सीएम कैंडिडेट विजेंद्र यादव होंगे. हालांकि थोड़ी देर के बाद ही विजेंद्र यादव की ओर से खंडन आ गया. लेकिन बुधवार को नये मामले ने एक बार फिर बिहार के पॉलिटिक्स में आॅफर व उम्मीद का मामला छा गया है.

यह भी पढ़ें- राजद का बाउंसर- माफी मांग लें नीतीश, जदयू का पलटवार- औकात में रहें आपलोग
मौका है : AIIMS के पास 6 लाख में मिलेगा प्लॉट, घर बनाने को PM से 2.67 लाख मिलेगी ​सब्सिडी
RING और EARRINGS की सबसे लेटेस्ट रेंज लीजिए चांद​ बिहारी ज्वैलर्स में, प्राइस 8000 से शुरू
चांद बिहारी अग्रवाल : कभी बेचते थे पकौड़े, आज इनकी जूलरी पर है बिहार को भरोसा

(लाइव सिटीज मीडिया के यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)