कोईलवर पुल के उद्घाटन कार्यक्रम: पोस्टर से CM नीतीश का नाम गायब होने पर सियासी तेज…अब PM मोदी के बगल में दी जगह

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: 266 करोड़ की लागत से एनएच-30 (922) के कोईलवर में सोन नदी पर बने डाउनस्ट्रीम 3 लेन पुल का आज शनिवार को उद्घाटन होगा. इसके लिए जगह-जगह पोस्टर लगाए गए थे. इस पोस्टर में कहीं भी जेडीयू के नेताओं को जगह नहीं मिली. इतना ही नहीं बल्कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार तक की तस्वीर नहीं लगाई गई. खबर दिखाई तो बीजेपी (BJP) में खलबली मच गई है. पुराने पोस्टर को हटाया गया और नए पोस्टर लगा गए जिसमें नीतीश कुमार की तस्वीर लगाई गई है.

बिहार के कोईलवर में 226 करोड़ की लागत से सोन नदी पर डाउनस्ट्रीम 3-लेन पुल का लोकार्पण होना है. सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय के द्वारा इस पुल का निर्माण किया गया है. केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी इस पुल का लोकार्पण करेंगे. इस मौके पर ऊर्जा मंत्री आर.के. सिंह भी मौजूद रहेंगे. जबकि सड़क परिवहन के राज्यमंत्री बीके सिंह, केंद्रीय मंत्री अश्विनी कुमार चौबे, राम कृपाल यादव, राघवेंद्र प्रताप सिंह और आरजेडी नेता व बिहार विधान सभा के सदस्य भाई वीरेंद्र को बुलाया गया है. इसमें पहले कहीं भी जेडीयू के नेता या मुख्यमंत्री की तस्वीर नहीं थी.

इसको लेकर जब मीडिया में खबर आई तो उसके बाद बीजेपी में खलबली मच गई. पटना के आयकर गोलंबर, गांधी मैदान सहित अन्य स्थानों पर जहां पोस्टर लगाया गया था उसे हटाया गया. इसके बाद नए पोस्टर में नीतीश कुमार की तस्वीर लगाई गई. खास बात है कि नरेंद्र मोदी के बगल में नीतीश कुमार की तस्वीर को इस बार लगाया गया है.

केंद्र सरकार के कार्यक्रम में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को आमंत्रित नहीं करने पर जेडीयू कोटे से मंत्री अशोक चौधरी ने अजीब सा जवाब दिया. उन्होंने कहा कि वह कार्यक्रम बीजेपी का है. भाजपा के कार्यक्रम में नीतीश की तस्वीर क्यों लगेगी ? उन्होंने कहा कि भाजपा के नेताओं की ही उसमें तस्वीर है,दूसरे पार्टी के कार्यक्रम में दूसरे दल के नेताओं की तस्वीर कैसे लगेगी…।