जेडीयू के आरसीपी सिंह पर लगा करप्शन का बड़ा आरोप, जानें पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष उमेश कुशवाहा ने कहा

लाइव सिटीज, पटना: जेडीयू ने अपने ही कद्दावर नेता और पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष आरसीपी सिंह पर करप्शन का बडा आरोप लगा दिया है. कभी पार्टी के सर्वेसर्वा रहे आरसीपी सिंह को प्रदेश अध्यक्ष ने नोटिस भेजा है. नोटिस में कहा गया है-आरसीपी सिंह जी, आपके परिवार ने नाम पिछले 9 साल में 58 प्लॉट की रजिस्ट्री हुई. यानि कुल 40 बीघा की जमीन की खरीद हुई. इसमें भ्रष्टाचार साफ साफ झलक रहा है. आप बताइयें, इतनी संपत्ति कहां से अर्जित की.

इस मामले में बिहार की सियासत तेज होने के बाद पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष उमेश कुशवाहा का बयान सामने आया है.  पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष उमेश कुशवाहा ने कहा कि ये पार्टी के अंदर की बात है. कोई भी पार्टी के कार्यकार्ता और पदाधिकारी कभी भी किसी पर आरोप लगाते है तो हमलोग उसकी जानकारी लेते हैं. और जांच करवाते हैं. ये सम्मान प्रक्रिया है. जांच होने के बाद हमलोग एक्शन लेते हैं. जांच में जो तथ्य आती है, उस तथ्य के आधार पर हमलोग कार्रवाई करते हैं.  

पार्टी सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार खरीदी गई ज्यादातर जमीन आरसीपी सिंह की पत्नी गिरजा सिंह और दोनों पुत्रियों लिपि सिंह और लता सिंह के नाम पर है. एक आरोप यह भी है कि आरसीपी सिंह ने 2016 के अपने चुनावी हलफनामे में इसका जिक्र नहीं किया है. आरोप है कि 9 साल में 58 प्लॉट आरसीपी सिंह के परिवार ने खरीदा है, नालंदा जिले के दो प्रखंड अस्थमा और इस्लामपुर में 2013 से अब तक 40 बीघा जमीन खरीदने का आरोप है और इन सब का जवाब उमेश कुशवाहा ने पत्र के माध्यम से मांगा है. लेकिन उपेंद्र कुशवाहा इस मामले में कुछ भी बोलने से साफ इंकार कर रहे हैं. पार्टी का कोई भी नेता इस मामले में कुछ भी बोलने से साफ इंकार कर रहा है.