कैमूर: पुलिस को मिली बड़ी सफलता, हाईवे पर गाड़ी चोरी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश

लाइव सिटीज, कैमूर/भभुआ(ब्रजेश दुबे): कैमूर पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है,दरअसल कैमूर पुलिस ने हाईवे पर गाड़ियों की चोरी करने वाले गिरोह का भंडाफोड किया है.पुलिस ने ट्रक लूट में शामिल दो लुटेरों को भी गिरफ्तार किया है. इसके साथ ही 27 जुलाई को कलेक्ट्रेट से चोरी की गई ट्रक के साथ-साथ एक अन्य चोरी के ट्रक को भी पुलिस ने बरामद कर लिया है.पुलिस के मुताबिक ट्रक का ड्राइवर व उसके साथी ने ही ट्रक चोरी के घटना को अंजाम दिया था.

आपको बता दें कि जिले में इनदिनों गाडी चोरी करने की घटना में काफी तेजी से बढ़ोतरी हो रही थी. आए दिन गाडी चोरी होने की शिकायत पुलिस तक पहुंच रही थी. इसको लेकर पुलिस ने बड़ी कारवाई करते हुए गाडी चोरी करने वाले गिरोह का पर्दाफ़ाश किया है. पिछले दिनों कलेक्ट्रेट से चोरी की गई ट्रक के साथ आरोपी को भी गिरफ्तार कर लिया गया है. पुलिस के अनुसार ट्रक का ड्राइवर व उसके साथी ने ही ट्रक चोरी के घटना को अंजाम दिया था.इस मामले में ट्रक ड्राइवर के साथी डब्बू गोंड और एक कबाड़ी ऑर्गेनाइजर को भी पुलिस ने गिरफ्तार किया है.

इस संबंध में आरोपी ने मीडिया और पुलिस के सामने खुलासा करते हुए कहा कि उसे राजेश राम ने पैसा का लालच देकर गाड़ी को औरंगाबाद के जसोईया मोड़ के पास ले जाकर छोड़ने को कहा था. उसने कहा कि पर उसने बताया कि गाड़ी की कटाई कर उसे कबाड़ी में बेचने के बाद पैसे मिलेंगे जिससे राजेश राम ने कबाड़ी से मिलकर कागज के खो जाने की बात कह कर कबाड़ी वाले को खरीदने पर ट्रक राजी कर लिया.उस ट्रक की कीमत कबाड़ी वाले ने दो लाख 18 हजार रुपए कीमत लगा कर खरीद लिया था. वहीं इस मामले में एसपी ने जब इस बात की कबाड़ी वाले से बात की तो पता चला कि कबाड़ी वाला इससे पहले भी इस तरह के मामले में पहले ही जेल जा चुका है.उसने बताया कि राजेश राम नाम के व्यक्ति से मिलने के तत्पश्चात पान नगर के संजीव जायसवाल को ट्रक बेचने की बात फाइनल हो चुकी थी.

एसपी दिलनवाज अहमद ने प्रेस वार्ता कर बताया कि बताया कि जिले में ट्रक चोरी की घटनाएं बढती ही जा रही थीं. इसपर लगाम लगाने के लिए पुलिस द्वारा स्पेशल टीम का गठन कर कई जगह छापेमारी की गई. जिसमें टीम को सफलता हाथ लगी है. हाल ही में चोरी हुए ट्रक को बंगाल के बर्द्धमान से बरामद किया गया है साथ ही लुटेरों के पास से 50 हजार रुपए भी बरामद किया गया है. एसपी ने यह भी बताया कि जहा ट्रक के इंजन का नंबर बदलकर चलाया जा रहा था. वही इस गिरोह का जाल बिहार के अलावे बंगाल व झारखंड तक फैला हुआ है.घटना में फरार चल रहे आरोपी को जल्द ही पुलिस गिरफ्तार कर लेगी.