मुकेश सहनी ने दिया NDA को झटका, MLC उपचुनाव के लिए ठुकरा दी उम्मीदवारी; लाइव सिटीज ने पहले किया था हिंट

लाइव सिटीज, पटना : आखिर वही हुआ, जिसका हिंट लाइव सिटीज ने पहले ही दिया था. पशु एवं मत्स्य संसाधन मंत्री व वीआइपी पार्टी के मुखिया मुकेश सहनी ने बिहार विधान परिषद की दो सीटों पर होने वाले उपचुनाव के लिए अपनी उम्मीदवारी ठुकरा दी है. बिहार विधान परिषद के लिए बीजेपी से मिले ऑफर को वीआइपी पार्टी ने स्वीकार नहीं किया. पार्टी ने साफ साफ कह दिया कि उसे कम कार्यकाल वाली बिहार विधान परिषद की सीट नहीं चाहिए. वह 6 साल के पूर्ण कार्यकाल वाली सीट पर मनोनीत होना चाहती है.

बता दें कि पिछले सप्ताह वीआइपी पार्टी के सुप्रीमो मुकेश सहनी ने लाइव सिटीज से बात में बताया था कि वे ढाई साल या साढ़े तीन साल के कार्यकाल वाली सीट पर एमएलसी नहीं बनना चाहते हैं.



दरअसल, बीजेपी ने पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी और विनोद नारायण झा की खाली विधान परिषद की दो सीटों में से एक सीट पर कल पूर्व केंद्रीय मंत्री शाहनवाज हुसैन को अपना उम्मीदवार बनाया था, जबकि दूसरी सीट पर मुकेश सहनी को उम्मीदवार बनने का ऑफर दिया था. लेकिन इसके चंद घंटे के बाद ही वीआइपी पार्टी ने बीजेपी के इस ऑफर को ठुकरा दिया है. इससे एनडीए को भी झटका लगा है.

बता दें कि बिहार विधान परिषद की दो सीटों के लिए 28 जनवरी को वोटिंग और काउंटिंग दोनों है. ये दोनों सीटें बीजेपी कोटे की हैं. ये दोनों सीटें पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी के राज्यसभा सांसद और बीजेपी नेता विनोद नारायण झा के विधायक निर्वाचित होने के बाद खाली हुई हैं. इसे लेकर कई तरह की कयासबाजी चल रही थी. कई नाम सामने आ रहे थे. लेकिन आज बीजेपी की ओर से एक सीट के लिए पूर्व केंद्रीय मंत्री शाहनवाज हुसैन के नाम की घोषणा कर दी गई. लेकिन, मुकेश सहनी के उम्मीदवारी से मना कर देने पर अब दूसरी सीट पर बीजेपी फिर से मंथन करेगी. जबकि नामांकन की लास्ट डेट सोमवार को है. ऐसे में उम्मीद की जा रही है कि आज शाम तक दूसरे उम्मीदवार के नाम की भी घोषणा हो जाएगी.