मुजफ्फरपुर में पुलिस हिरासत में मौत पर हत्या का आरोप, लोगों ने किया डायल-112 गाड़ी पर हमला

लाइव सिटीज, मुजफ्फरपुर/ अभिषेक: बिहार के मुजफ्फरपुर में पुलिस की गाड़ी पर हमला किया गया है. जिले में एक बाइक पर सवार होकर दो भाई एक शादी समारोह में शामिल होने जा रहे थे. उसी समय पीछे जा आई जिप्सी ने बाइक सवार में एक को पकड़कर लेकर चली गई. वहीं दूसरे भाई को वहीं पर छोड़ दिया. जिसके बाद शाम में गांव के नहर के पास युवक का शव बरामद किया गया. इसी सूचना के आधार पर पुलिस मौके पर पहुंची तो परिजनों और ग्रामीणों ने पुलिस की डायल 112 गाड़ी पर पत्थर से वार कर दिया.

दरअसल यह मामला एक युवक के शव को गांव के ही तालाब में देखने के बाद भड़का है. मृतक मोहम्मद मोजिम (28 वर्ष) कांटी के बसतपुर शेरना का रहने वाला था. उसके भाई मोहम्मद नजीम ने बताया कि बुधवार को अपने भाई और एक बच्चे के साथ शादी समारोह में शामिल होने के लिए झपहां जा रहे थे. उसी समय जिप्सी से पुलिसकर्मी आये और आधे रास्ते से ही उसके भाई को हिरासत में ले लिया.

पुलिस ने बताया कि इसकी गिरफ्तारी अवैध शराब से जुड़े मामले में की गई है. वहीं दूसरे भाई को पुलिस ने छोड़ दिया. पुलिस ने उससे कहा कि गुरुवार को थाना पर आने को कहा था. वहीं जब थाना पर गया तो वहां से भाई के बारे में कोई जानकारी नहीं मिली. उसका भाई थाना पर भी नहीं था. इधर परिजन सभी जगहों पर खोजबीन करने लगे.

वहीं जब पुलिस गांव में शव की सूचना मिलने पर पहुंची तो शहबाजपुर गांव के आक्रोशित भीड़ ने डायल 112 वाली पुलिस वाहन पर हमला कर दिया. अचानक ग्रामीणों के हमले के डर से पुलिसकर्मी वहां से अपने जान बचाकर वहां से निकले. डायल 112 के गाड़ी के शीशे टूटकर पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गये. वहीं पुलिस की टीम ने मुख्यालय को सूचना दी तब जाकर DSP अभिषेक आनंद काफी संख्या में पुलिस बल लेकर पहुंचे. पुलिस ने मौके पर पहुंचते ही उपद्रवियों पर बल प्रयोग कर खदेड़ा