नीतीश ने अमेरिका में बसे उद्यमियों को बिहार आने का दिया न्यौता, कहा- मिलेंगी सारी सुविधाएं

लाइव सिटीज, पटना : अमेरिका में बसे बिहार के उद्यमियों को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आने का न्यौता दिया है. उन्होंने संवाद कार्यक्रम में कहा कि उद्यमी बिहार आएं, यहां सारी सुख-सुविधाएं मिलेंगी. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बिहार-झारखण्ड एसोसिएशन ऑफ नाॅर्थ अमेरिका, काउंसुलेट जनरल ऑफ इंडिया, न्यूयाॅर्क एवं बिहार फाउंडेशन के संयुक्त तत्वावधान में बिहार के अतीत, वर्तमान एवं भविष्य की संभावनाओं पर वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से अमेरिका में रह रहे बिहार मूल के लोगों से व्यापक चर्चा की. वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के जरिए आयोजित इस संवाद कार्यक्रम में वे मुख्य अतिथि एवं मुख्य वक्ता के तौर पर शामिल हुए.

मुख्यमंत्री ने उद्यमियों से अपील करते हुए कहा कि वे बिहार आएं. उन्होंने कहा कि सरकार उन्हें अपने स्तर से राज्य का भ्रमण कराएगी. बिहार में पर्यटन को बढ़ावा दिया जा रहा है. ईको टूरिज्म पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है. पटना में देश का पहला इंटरनेशनल म्यूजियम बनाया गया है. पटना म्यूजियम का भी विस्तार किया जा रहा है. पटना में जहां पुरानी जेल थी, वहां बुद्ध स्मृति पार्क का निर्माण किया गया है. वैशाली में बुद्ध सम्यक दर्शन संग्रहालय एवं स्मृति स्तूप का निर्माण कराया जा रहा है. राजगीर में कई चीजें शुरू की गयी हैं. वहां दो तरह की सफारी बन रही है. एक नेचर सफारी और दूसरा जू सफारी. नेचर सफारी का काम लगभग पूरा हो चुका है. बोधगया में महाबोधि सांस्कृतिक केंद्र का निर्माण हो रहा है. उन्होंने कहा कि मैं चाहता हूॅ कि कोई भी यहां आये तो उन्हें सुखद अनुभूति हो.



मुख्यमंत्री ने कहा कि गंगा नदी के पानी को नवादा, राजगीर, गया तक पहुंचा रहे हैं. बारहों महीने गंगा का पानी यहां उपलब्ध रहेगा. पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए कई काम किये जा रहे हैं. अंतर्राष्ट्रीय स्तर के एवं आइकोनिक भवनों का निर्माण कराया जा रहा है. उन्होंने कहा कि कोरोना के दौर में बिहार के बाहर फंसे लोगों को काफी मदद दी गयी. उन्हें आर्थिक मदद के साथ ही हर प्रकार की सुविधा उपलब्ध करायी गयी. कहा कि बिहार में उद्योग की कमी है और हम चाहते हैं कि आपके समुदाय से इस संबंध में मदद मिले. मुख्यमंत्री ने उद्योग लगाने वालों को हरसंभव मदद की बात कही. उन्होंने कहा कि अगर आप उद्योग लगायेंगे तो हम आपको जमीन उपलब्ध कराने के साथ ही हर तरह की सुविधा देंगे. हम सब एक परिवार के सदस्य हैं. आपकी किसी भी समस्या का समाधान करेंगे। आपके सुझावों पर हम अमल करेंगे.

मुख्यमंत्री ने कहा कि पहली बार पक्षियों का महोत्सव बिहार के जमुई में आज से शुरू किया गया है. पर्यावरण की रक्षा के लिए कई काम किये जा रहे हैं. जल-जीवन-हरियाली अभियान की शुरूआत की गयी है. बिहार में हेल्थ सेक्टर में बिलगेट्स काम कर रहे हैं, उनसे काफी मदद मिलती रही है. नवम्बर 2019 में जल-जीवन-हरियाली अभियान को लेकर हमने उनसे पटना में बातचीत की थी. अगली बैठक में आपलोगों को बिहार से संबंधित एक प्रस्तुतीकरण दिखाया जाएगा. आपसे सुझाव लेकर आगे काम किया जायेगा. आप पूरे इलाके की स्टडी कर लीजिए और मुझे बताइए कि क्या करना चाहिए. मुझे भरोसा है कि अगर आप दिलचस्पी लीजिएगा तो बिहार बहुत आगे जाएगा. बिहार को पुनः नई ऊंचाइयों तक फिर से ले जाना है, इसमें आप सबका सहयोग बहुत जरूरी होगा.

संवाद कार्यक्रम में बिहार-झारखण्ड एसोसिएशन ऑफ नाॅर्थ अमेरिका के वक्ताओं प्रो अजय झा, संजय राय, नीतीश कुमार, अशोक रामशरण, अजय सिंह, आलोक कुमार एवं काउंसुलेट जनरल ऑफ इंडिया, न्यूयाॅर्क रणधीर जायसवाल ने भी अपनी बातें रखी. मुख्य सचिव दीपक कुमार ने भी बिहार के विकास से संबंधित तथ्यों से वक्ताओं को अवगत कराया. मुख्य सचिव ने भी बिहार में उद्योग लगाने वालों को हरसंभव सहायता देने का आश्वासन दिया. धन्यवाद ज्ञापन बिहार-झारखण्ड एसोसिएशन ऑफ नाॅर्थ अमेरिका के उपाध्यक्ष अनुराग कुमार ने किया. इस अवसर पर पूर्व मंत्री संजय झा, अपर मुख्य सचिव उद्योग ब्रजेश मेहरोत्रा, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव चंचल कुमार, मुख्यमंत्री के सचिव मनीष कुमार वर्मा, मुख्यमंत्री के सचिव अनुपम कुमार एवं मुख्यमंत्री के विशेष कार्य पदाधिकारी गोपाल सिंह, बिहार फाउंडेशन के सीईओ रविशंकर श्रीवास्तव उपस्थित थे.