औरंगाबाद में अपराधियों का तांडव, बकाया राशि वसूलने को लेकर शहद विक्रेता की अपहरण कर हत्या

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: बिहार में अपराधियों का तांडव थमने का नाम नहीं ले रहा है. आए दिन अपराधी बेखौफ होकर सड़क पर घुम रहे है. अपराधी बड़ी वारदात को अंजाम देकर फरार हो जाते हैं. औरंगाबाद में एक सनसनीखेज मामला सामने आया है, जहां शहद विक्रेता की हत्या कर दी गयी है. महज 10 हजार रुपये बकाया राशि वसूलने को लेकर एक शहद विक्रेता की अपहरण कर हत्या कर दी गयी. इस घटना के बाद पूरे इलाके में सनसनी फैल गयी है. परिजनों का रो-रोकर बुरा हैल है. घटना की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और मामले की जांच में जुट गयी.

मिली जानकारी के अनुसार रोहतास के अकोढ़ीगोला निवासी सुभाष खरवार ने अपने गांव के रबिन्द्र खरवार से शहद व्यवसाय के लिए दस हजार कर्ज लिए हुए था. कर्ज लेकर मृतक शहर के रामाबान्ध में रहकर शहद का व्यवसाय कर रहा था. इसी बीच कर्ज देनेवाले ने उसे अपने साथ यह कहकर ले गए कि उनके यहां काम कर के कर्ज की रकम चुकता कर दे.लेकिन परिजनों को इसकी भनक तक नहीं लगी और जब जानकारी हुई तब तक उसकी हत्या हो चुकी थी.

मृतक के भाई ने बताया कि रबिन्द्र खरवार अपने लोगों के साथ उसके भाई को लेकर गया और कमरे में बन्द कर मारपीट की. जिसे आनन-फानन में इलाज के लिए सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां इलाज के क्रम में मौत हो गयी.इस मामले में मृतक के परिजनों ने सुभाष खरवार की हत्या किए जाने की आशंका जताते हुए रविंद्र खरवार सहित छह लोगों को आरोपित बनाते हुए नगर थाना पुलिस के सामने अपना फर्द बयान दर्ज कराया है.