शराबबंदी कानून को लेकर सियासत तेज, बोले आरजेडी विधायक आलोक मेहता- राज्य में शराबबंदी कानून पूरी तरह से फेल

लाइव सिटीज, पटना: बिहार के सीएम नीतीश कुमार के शराबबंदी कानून को लेकर सियासत थम नहीं रही. शराबबंदी कानून को लेकर राजनीतिक बयानबाजी चरम पर है. राजद ने इस कानून को विफल बता दिया. वहीं, राजद विधायक आलोक मेहता ने शराबबंदी कानून पर एक बड़ा बयान दे दिया है उन्होंने कहा है कि जिस तरीके से बीजेपी के विधायक शराबबंदी कानून की समीक्षा के बाद कर रहे हैं. अगर ऐसा चाहते हैं तो समर्थन वापस लेकर बाहर आए.

राजद विधायक आलोक मेहता ने कहा कि राज्य में शराबबंदी कानून  फेल है. उन्होंने कहा कि जिस सरकार ने पंचायतों में शराब की दुकान को खोलें उससे शराबबंदी कानून की सफलता की कामना करना विडंबना है. सरकार पिछले 5 सालों से शराब बंदी कानून की सफलता को लेकर काम करने की बात करती हैं. लेकिन या नहीं हो पा रहा है. सरकार ने पूरी तरह से इच्छाशक्ति की कमी है.

आपको बता दें की बिहार में शराबबंदी कानून को लागू हुए भले ही करीब पांच साल गुजर गए हों, लेकिन अभी भी इसे लेकर जमकर सियासत हो रही है. पांच वर्ष पूर्व सत्ता पक्ष से लेकर विपक्ष तक के लोगों ने इस कानून के समर्थन में अपनी आवाज बुलंद की थी, लेकिन अब इसी कानून को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को घेरा जा रहा है.