गला खस-खसा रहा है, बुखार भी आ रहा है; लेकिन रिपोर्ट कोरोना निगेटिव, टेंशन में मरीज…

लाइव सिटीज, राजेश ठाकुर : बिहार में कोरोना की दूसरी लहर की रफ्तार अचानक बढ़ गई है. 24 घंटे के अंदर सोमवार को 935 नए मरीज मिले. कमोबेश यही स्थिति राजधानी पटना की भी है. नए मरीजों की रफ्तार में पटना बाकी जिलों से आगे चल रहा है. इसके बाद से स्वास्थ्य विभाग और अधिक अलर्ट हो गया है. लेकिन खास बात है कि जो कोरोना पॉजिटिव पाये जा रहे हैं, उनमें कोई लक्षण नहीं दिखता है और जो नहीं हैं, वे खांस भी रहे हैं और उन्हें बुखार भी आ रहा है. 

दरअसल, पटना में कुछ इसी तरह के मरीज इन दिनों मिल रहे हैं. आटो में जा रहे हैं तो अचानक बगल वाला पैसेंजर खांसने लगता है. कहीं कार्यालय में बैठे हैं तो बगल में ही बैठे लोग खांसने लगते हैं. प्राइवेट कार्यालयों का भी कुछ ऐसा ही हाल है. अचानक काम करते-करते कलिग खांसने लग​ते हैं. इसके बाद तो बगल वाले लोगों पर क्या बीतती है, वही जानता है. वे खांसने वाले लोगों को शंका की दृष्टि से देखने लगते हैं. वे डॉक्टर के यहां दिखाते हैं तो पता चलता है कुछ नहीं है. केवल सीजनेबल है. 

पटना में मीडिया हाउस में काम कर रहे कैमरा मैन अनुपम की मानें तो आज एक पार्टी कार्यालय में वो कवर करने गए थे. पुलिस वाले से बात हो रही थी. तभी उन्होंने कहा कि आज सुबह से बुखार जैसा लग रहा है और गला भी खस-खसा रहा है. इसके बाद तो कैमरामैन की हालत पूछिए मत. इसी तरह का वाकया आज एक हॉस्पीटल में भी देखने को मिला. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, प्राइवेट व सरकारी अस्पतालों में कई ऐसे मरीज पहुंच रहे हैं, जिनके सभी लक्षण कोरोना से मिलते-जुलते हैं. लेकिन, जांच में वे निगेटिव आ रहे हैं. ऐसे मरीजों को कोविड वार्ड में रखा जाए या सामान्य वार्ड में इसको लेकर डॉक्टरों में भी असमंजस की स्थिति बनी रहती है.

बताया जाता है कि एम्स पटना की एक नर्स सर्दी-खांसी और बुखार से पीड़ित होकर इलाज कराने पहुंची. उसके गले में दर्द और खांसी भी थी. कोरोना की आरटीपीसीआर जांच में वह निगेटिव आई. इसके बाद जब उसका सिटी स्कैन किया गया तो उसकी छाती में निमोनिया जैसे लक्षण थे. ऐसे में न मरीज की समझ में आ रहा है कि वह क्या करे और न डॉक्टरों को समझ में आ रहा है, ऐसे मरीजों के लिए क्या व्यवस्था करें.

बहरहाल, कोरोना की दूसरी लहर ने बेशक लोगों की टेंशन बढ़ा दी है. इसे लेकर आज भी स्वास्थ्य विभाग ने मरीजों को अलर्ट रहने को कहा है. यहां तक कि खुद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कई आवश्यक निदेश दिए हैं. खास बात कि जब यह खबर लिख रहे हैं तो कोरोना मरीजों का नया आंकड़ा सामने आ गया है. मंगलवार को जारी रिपोर्ट में कोरोना के 1080 नए मरीज मिले हैं. जबकि सोमवार को 935 मरीज मिले थे.