कैमुर में स्टील ब्रिज के नीचे उतरा ट्रक का पहिया, बाल बाल बचा चालक और खलासी, घंटों बाद आवागमन हुआ चालू

लाइव सिटीज,कैमुर/भभुआ(ब्रजेश दुबे): कैमुर जिले के दुर्गावती प्रखंड अंतर्गत खजुरा बाजार के पास कर्मनाशा नदी पर बने स्टील ब्रिज से अनियंत्रित होकर एक बालू लदे ट्रक का पहिया नीचे उतर गया. हालांकि ट्रक चालक ने सुझबुझ दिखाते हुए ट्रक को बंद कर गाड़ी से नीचे उतर गया. इस घटना के बाद एनएच 2 पर लंबा जाम लग गया. कई घंटों तक के काफी मशक्कत के बाद क्रेन से ट्रक को निकाला गया.

बताते चलें कि राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या दो पर कर्मनाशा नदी पर बनाया गया पुल 28 दिसंबर 2019 को क्षतिग्रस्त हो गया था. जिसके बाद पुल से आवागमन बंद हो गया. लगभग 1 साल के बाद पुल का मरम्मत करके तैयार किया गया है. लेकिन प्रशासनिक पेच की वजह से पुल से आवागमन चालू नहीं किया गया है. पूल क्षतिग्रस्त हो जाने के बाद एन एच आई के द्वारा पुल के दोनों तरफ डायवर्सन बनाया गया. लेकिन बरसात के पहले पुल का मरम्मत नहीं होने की वजह से नदी में जल स्तर बढ़ने के कारण दोनों डायवर्सन पानी के दबाव के कारण टूट गये.



इसकी जानकारी एनएचआई को पहले से ही थी कि नदी का जलस्तर बढ़ने के बाद  डायवर्सन बंद हो जाएंगे. इसे देखते हुए स्टील ब्रिज बनाया गया था जिसकी क्षमता 50 टन लोड की थी लेकिन ओवरलोड बालू लदे ट्रकों के आने जाने से स्टील ब्रिज पूरी तरह से जर्जर हो गया है. उसी ब्रिज से होते हुए छोटे-बड़े वाहन आ जा रहे हैं.

इसी क्रम में गुरुवार की रात में एक ट्रक का पहिया अनियंत्रित होकर स्टील ब्रिज के नीचे उतर गया गनीमत रही कि ट्रक चालक  ने सूझबूझ का परिचय देते हुए ट्रक को तुरंत वहीं खड़ा करके नीचे उतर गया. जिसके बाद स्टील ब्रिज से वाहनों का आवागमन बंद हो गया. इसकी सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंचे एनएचआई कर्मियों ने क्रेन मंगाकर कई घंटों तक कड़ी मशक्कत के बाद ट्रक को बाहर निकाला. जिसके बाद  आवागमन शुरू किया गया.

बताते चलें कि एनएचआई एवं प्रशासन के बीच इसी तरह तनातनी बना रहा तो किसी दीन स्टील ब्रिज पर बड़ा हादसा हो सकता है. एनएचएआई का कहना है कि पूल मरम्मत करके तैयार हो गया है लेकिन जब तक प्रशासन ओवरलोड बालू के ऊपर रोक नहीं लगाता है तब तक पूल से आवागमन चालू नहीं किया जाएगा. एनएचआई के द्वारा इस संदर्भ में बिहार सरकार को लिखित पत्र देकर ओवरलोड बालू रोकने की मांग की गई है. अब देखना यह है कि सरकार ओवरलोड बालू के ऊपर कब तक लगाम लगा पाती है. पुल के बंद होने की वजह से आए दिन खजुरा से लेकर दुर्गावती तक एन एच दो पर जाम लगा रहता है जिससे कई दुर्घटना में कितने लोगों का घर उजड़ गया.