यूपी में योगी आदित्यनाथ व नीतीश कुमार होंगे आमने-सामने, विधानसभा चुनाव को लेकर जेडीयू ने लिया बड़ा निर्णय

लाइव सिटीज, पटना/ दिल्ली: बीजेपी के फायर ब्रांड यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ और बिहार के सीएम नीतीश कुमार आमने-सामने होंगे. अगले साल यूपी में होने वाले विधान सभा चुनाव में जेडीयू पूरी ताकत के साथ उतरेगा. बता दें कि यूपी में अभी बीजेपी सत्ता में है और वहां पर जेडीयू का बीजेपी से कोई गठबंधन नहीं है. यूपी में जेडीयू ने पूरी ताकत से लड़ने का फैसला किया है. इसके लिए पार्टी ने व्यापक तैयारी शुरू कर दी है. शनिवार को दिल्ली में उत्तर प्रदेश राज्य इकाई के पार्टी पदाधिकारियों के साथ जेडीये के राष्टीय अध्यक्ष आरसीपी सिंह की बैठक हुई. इसमें यह निर्णय लिया गया.

जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं सांसद आरसीपी सिंह ने कहा कि पार्टी ने दूसरे राज्यों में अपने विस्तार को अमली जामा पहनाना शुरू कर दिया है. इसी के तहत पार्टी उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में अपनी पूरी ताकत झोंकेगी. उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में पार्टी के लिए अपार संभावनाएं हैं और जरूरत इस बात की है कि हम अपनी ताकत को पहचानें और उसके अनुरूप कदम उठाते हुए चुनावों में सफलता हासिल करें. उन्होंने यूपी प्रदेश अध्यक्ष को बड़ी जिम्मेवारी सौंपी है.



उन्होंने जेडीयू के यूपी प्रदेश अध्यक्ष से कहा है कि वह राज्य के सभी जिला अध्यक्षों एवं पार्टी पदाधिकारियों, कार्यकर्ताओं के द्वारा पार्टी की नीतियों और राजनीतिक उपलब्धियों के बारे में यूपी के लोगों को विस्तार से बताएं. लोगों को यह भी बताया जाए कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बिहार के विकास के लिए कौन-कौन से कदम उठाए हैं. इतना ही नहीं, इसी साल यूपी में होने वाले पंचायत चुनाव में भी पार्टी के लोगों से बढ़-चढ़ कर हिस्सा लेने को कहा है.

जेडीयू उत्तर प्रदेश इकाई की दिल्ली मे ंआयोजित बैठक में आरसीपी सिंह के अलावा राष्ट्रीय महासचिव आफाक अहमद खान, उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष अनूप सिंह पटेल, प्रधान महासचिव सुशील कश्यप, प्रदेश उपाध्यक्ष विनोद त्यागी, शैलेन्द्र प्रसाद, हरिशंकर पटेल, भरत पटेल, युवा प्रदेश अध्यक्ष अरविंद पटेल, रमेश उपाध्याय, मनीष नंदन आदि भी मौजूद रहे.