आर्थिक विकास दर के मामले में बिहार नंबर वन, लेकिन रोजगार सृजन में ज्यादा फायदा नहीं

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : क्रिसिल की अर्थव्यवस्था पर रिपोर्ट आई है. इस रिपोर्ट में कहा गया है कि ग्रॉस स्टेट डोमेस्टिक प्रोडक्ट (जीएसडीपी) के मामले में बिहार सबसे तेजी से बढ़ने वाले राज्य बन कर उभरा है. वित्तीय वर्ष 2017-18 में बिहार का आर्थिक विकास दर 11.3 के साथ पहले स्थान पर रहा. वहीं आंध्र प्रदेश का 11.2 प्रतिशत जीएसडीपी के साथ दूसरे स्थान पर है. इस मामले में दूसरे नंबर पर आंध्र प्रदेश और तीसरे नंबर पर गुजरात रहा.

इस रिपोर्ट के अनुसार गुजरात, बिहार और हरियाणा में रोजगारोन्मुख क्षेत्रों की वृद्धि दर सबसे तेज रही. दूसरी तरफ राजस्थान, झारखंड और मध्य प्रदेश में इनकी वृद्धि दर सबसे कम रही. राजस्थान, झारखंड और उत्तर प्रदेश पिछले तीन वर्ष में क्षमता विस्तार के अनुपात में सबसे ऊपर रहे. लेकिन इन राज्यों में स्वास्थ्य, सिंचाई और शिक्षा जैसे क्षेत्रों पर पर्याप्त ध्यान नहीं दिया जा रहा है.

यह भी पढ़ें – बिहार बोर्ड नकल करने वालों पर लगाएगी लगाम, अब जूता-मोजा खोलकर देना होगा एक्जाम

रिपोर्ट ने यह भी खुलासा किया है कि वित्त वर्ष 2017-18 के दौरान राष्ट्रीय सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की वृद्धि दर से अधिक तेजी से वृद्धि करने वाले 12 बड़े राज्य इसका फायदा रोजगार सृजन में नहीं उठा पा रहे हैं. रिपोर्ट के अनुसार इन राज्यों की जीडीपी में वृद्धि ऐसे क्षेत्रों में हुई है जिनमें रोजगार के कम अवसर होते हैं.

क्रिसिल ने कहा, ‘अधिकांश राज्यों में आर्थिक वृद्धि रोजगार सृजन के अनुकूल नहीं रही है.’ रिपोर्ट में कहा गया कि 11 राज्यों में विनिर्माण, निर्माण, व्यापार, होटल, परिवहन और संचार सेवाओं जैसे रोजगार में केंद्रित क्षेत्रों में राष्ट्रीय दर की तुलना में कम रफ्तार से वृद्धि हुई है.

क्रिसिल की यह रिपोर्ट ऐसे समय में आयी है जब सेंटर फोर मॉनिटरिंग इंडियन इकोनॉमी ने सिर्फ 2018 में ही 1.10 करोड़ नौकरियां समाप्त होने की बात कही है.

About परमबीर सिंह 1371 Articles
राजनीति, क्राइम और खेलकूद....

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*