बिहार का एक ऐसा जिला जहां शौच के लिए जंगल में जाते हैं लोग, अधिकारी भी यहां जाने से डरते हैं

लाइव सिटीज डेस्क : पूरे देश में गांवों को शौच मुक्त बनाने की होड़ सी मची है. अभी भी लोग अपने घरों में शौचालय ना बनवाकर बाहर खेतों में शौच करने जाया करते हैं. शासन-प्रशासन के अधिकारी जमीनी हकीकत को नजरअंदाज करके खुद के जिले व प्रखंड को ओडीएफ घोषित करने में लगे हैं. आज हम आपको बिहार के एक जिले में लिए चलते हैं जहां लोग जंगलों में शौच करने जाया करते हैं.

स्थिति बेहद ही चिंताजनक

हम बात कर रहे हैं बिहार के रोहतास जिले की जहां की स्थिति बेहद ही चिंताजनक है. ये जिला पहाड़ी है और ऐसे में लोग जंगल में शौच करने जाने को विवश हैं. हालांकि सरकार की कोशिश यही रहती है कि सभी जिलों में शौचालय का निर्माण कराया जाए लेकिन यहां के लोग गुमराह हो गए थे. ग्रामीण बिचौलियों के बहकाबे में आ गए थे. इसके कारण कई गांवो में शौचालय नहीं बन सका.

बुधुआ गांव जहां मात्र 4 ही शौचालय ही बने हैं

यहां एक गांव है बुधुआ जहां मात्र 4 ही शौचालय ही बने हैं. यहां के ग्रामीणों का कहना है कि गांव में शौचालय के लिए जमीन खुदवा दी गई है, लेकिन अब कोई भी खबर लेने वाला नहीं है. लोगों का कहना है कि शौचालय नहीं बनने के कारण आज भी वे खुले में ही शौच करने जाते हैं. ये हाल तब है जब सरकार द्वारा शौचालय बनाने के लिए 12 हजार रुपये की सहायता भी दी जा रही है.

रोहतास का ये पहाड़ी इलाका नक्सल प्रभावित क्षेत्र में आता है

गौरतलब है कि रोहतास का ये पहाड़ी इलाका नक्सल प्रभावित क्षेत्र में आता है. इसके कारण इस इलाके में पदाधिकारी भी जाने से डरते हैं. यहां ठेकेदार और बिचौलियों का बोलबाला है. इसी कारण से गांव के सही लाभुकों तक योजना का लाभ नहीं पहुंच पा रही है और लोग खुले में शौच करने को विवश हैं.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*