50 करोड़ की मूर्ति लूटकांड का हुआ खुलासा, 6 गिरफ्तार, सभी 14 मूर्ति बरामद

समस्तीपुर (राजू गुप्ता) : बिहार की समस्तीपुर पुलिस ने 12 अप्रैल की रात्रि में सरायरंजन के नरघोघी  राम जानकी मठ में हुए अब तक के सबसे बड़े लूटकांड का खुलासा कर दिया है. जिले के सरायरंजन थाना क्षेत्र के पुलिस ने उद्भेदन किया है. पुलिस को 14 मूर्तियां एवं अपराध में संलिप्त 6 अपराधियों को गिरफ्तार करने में सफलता मिली है .मूर्ति लूट कांड में प्रयुक्त किये गए एक तबेरा कार को भी पुलिस ने बरामद किया है .

सभी बेशकीमती 14 मूर्तियां बरामद कर ली है

उक्त जानकारी SP दीपक रंजन ने प्रेस वार्ता में दी. SP ने बताया कि लूट कांड के बाद सदर डीएसपी मो तनवीर के नेतृत्व में एसआईटी टीम का गठन किया गया था. टीम ने त्वरित कार्रवाई करते हुए वैज्ञानिक अनुसंधान के सहारे लूटी गई सभी बेशकीमती 14 मूर्तियां बरामद कर ली है. साथ ही 6 अपराधकर्मी की गिरफ्तारी की गई है. मूर्ति लूट कांड में अन्य अपराधकर्मियों की भी पहचान की गई है. जिसके गिरफ्तारी के लिए पुलिस प्रयासरत है. मूर्ति बरामदगी पूर्णिया से की गई है.

6 अपराधी हुए हैं गिरफ्तार

SP ने बताया कि गिरफ्तार अपराधियों में दो कटिहार जिले एवं 4 समस्तीपुर मुफसिल थाना क्षेत्र के निवासी हैं. गिरफ्तार अपराधी में कटिहार जिले के मोहम्मद फारुक आलम, डॉ. शहनवाज उर्फ शमशाद आलम एवं समस्तीपुर मुफस्सिल थाना क्षेत्र के देवेंद्र कुमार, विश्वनाथ राय, आशुतोष कुमार व अमित कुमार आनंद शामिल है. कटिहार से पुलिस ने जिन दो लोगों को गिरफ़्तार किया, उसमें कटिहार मेडिकल कॉलेज के एमबीबीएस के तृतीय वर्ष के छात्र डा. अशोक उर्फ पप्पू भाई उर्फ डॉ शाहनवाज़ उर्फ शमशाद आलम और फ़ारुख आलम है.

बता दें कि 11 अप्रैल की रात्रि में नरघोघी मठ के राम जानकी मंदिर से सभी बेशकीमती मूर्तियां अपराधियों ने लूट ली थी.लूट के दौरान अपराधियों ने डयूटी कर रहे गृह रक्षा वाहिनी के चार पुलिस से रायफल छीनकर उन्हें बंधक बना लिया था.लूटी गई मूर्तियों की कीमत 50 करोड़ के लगभग आंकी गयी थी. मूर्तियों की बरामदगी की जानकारी पर भक्तो में खुशी का माहौल है.लोगों ने पुलिस टीम व एसपी को शाबाशी दे रहे है.

यह भी पढ़ें : फिर हो गए नोटबंदी जैसे हालात, बिहार, गुजरात और UP में कैश की भारी किल्लत

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*