‘पटना के अधिकारी एवं बाबूओं की वजह से पैसा रहते शिक्षकों को नहीं मिलेगी सैलरी’

पटना : बिहार माध्यमिक शिक्षक संघ ने पटना जिला के नियोजित शिक्षकों को इस माह वेतन नहीं मिल पाने पर रोष व्यक्त किया है. संघ के पटना जिला के सचिव सुधीर कुमार ने कहा है कि पटना जिला शिक्षा पदाधिकारी कार्यालय के अधिकारी एवं बाबूओं की हठधर्मिता एवं सुस्ती का कारण है कि पैसा रहते शिक्षकों एवं पुस्तकालयाध्यक्षों का वेतन भुगतान नहीं हो रहा है. उन्होंने कहा कि अधिकारी एवं बाबू तो अपना वेतन ले रहे हैं, मगर अल्प वेतनभोगी नियोजित शिक्षक एवं पुस्तकालयाध्यक्ष अपनी दक्षता एवं मनोयोग से काम करने के बाद भी बिना वेतन के हैं.

दरअसल, सरकार द्वारा राशि उपलब्ध कराये जाने के बाद भी पटना जिला के शिक्षकों एवं पुस्तकालयाध्यक्षों का वेतन पिछले दो माह से लंबित है. शिक्षक संघ ने जिला शिक्षा पदाधिकारी, पटना कार्यालय की अकर्मण्यता, लापरवाही, उदासीनता एवं लालफीताशाही को इसकी वजह बताया है. आरोप है कि इस मामले में बजाए समस्या का जल्द से जल्द समाधान करने के जिला शिक्षा पदाधिकारी ने अपने कार्यालय के बाद एक सूचना चिपका दी है जिसमें कहा गया है कि सभी नियोजन इकाई सचिव के खाते में केवाईसी फार्म नहीं रहने के कारण नियोजित शिक्षकों का वेतन व वकाया वेतन का भुगतान बाधित है.

Sudhir kumar (1)
सुधीर कुमार

गौरतलब है कि नियोजित शिक्षकों का वेतन भुगतान विभिन्न नियोजन इकाईयों के बैंक खाता के माध्यम से होता है मगर इकाईयों का खाता केवाईसी अपडेट नहीं होने के कारण नियोजित शिक्षकों एवं पुस्तकालयाध्यक्षों का वेतन भुगतान संभव नहीं हो पा रहा है. इसके लिए भारतीय स्टेट बैंक, सचिवालय शाखा महाप्रबंधक ने 3 नवंबर, 2017 को ही जिला कार्यक्रम पदाधिकारी (स्थापना) को पत्र लिख कर इस आशय से अवगत कराते हुए सभी इकाईयों को केवाईसी अपडेट करा कर बैंक को सूचित करने का अनुरोध किया था. लेकिन जिला शिक्षा पदाधिकारी कार्यालय ने इस अनुरोध को अनसुना किया और इस पत्र पर कोई संज्ञान नहीं लिया.

अंतत: शिक्षकों तथा पुस्तकालयाध्यक्षों का वेतन बंद हो गया. तब जिला शिक्षा कार्यालय की नींद खुली और आनन-फान में एक माह से अधिक समय बीत जाने के बाद 8 दिसंबर को जिला कार्यक्रम पदाधिकारी (स्थापना) ने नगर परिषद, नगर पंचायत, प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी, विद्यालय अवर निरीक्षक, सभी कार्यक्रम पदाधिकारी, शिक्षक नियोजन इकाई को पत्र लिख कर केवाईसी अपडेट करने तथा इसकी सूचना उपलब्ध कराने का पत्र जारी किया.

नियोजन इकाईयों का KYC अपडेट नहीं है, शिक्षकों को अभी नहीं मिलेगा वेतन

इस संबंध में जिला माध्यमिक शिक्षक संघ के पदाधिकारियों ने बैंक के वरीय पदाधिकारियों से संपर्क किया तो उनका कहना था कि हमारे बार-बार आगाह करने एवं पत्र लिखने के बाद भी जिला शिक्षा पदाधिकारी कार्यालय ने कोई पहल नहीं की. यदि जिला कार्यक्रम पदाधिकारी (स्थापना) अपना भी केवाईसी अपडेट करा लें तो शिक्षकों एव पुस्तकालयाध्यक्षों का वेतन उनके खाते में भेज दिया जायेगा. बैंक और जिला शिक्षा कार्यालय, पटना के बीच चल रहे पत्र युद्ध के बीच पटना जिला के नियोजित शिक्षक एवं पुस्तकालयाध्यक्ष पिस रहे हैं और उनका नया साल सुखा गुजरने वाला है.

About Anjani Pandey 863 Articles
I write on Politics, Crime and everything else.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*