लाइव सिटीज डेस्क : बिहार में इंटर के रिजल्ट में हुई गड़बड़ी को लेकर छात्र संगठन तो लगातार प्रदर्शन कर ही रहे हैं. वहीं यह अब सियासी रूप भी ले लिया है. इसे लेकर विपक्ष बिहार बोर्ड से लेकर नीतीश सरकार तक को निशाने पर ले रहा है. लेकिन अब मामले को सत्ता पक्ष भी गंभीरता से ले रहा है. जदयू के बाद अब बीजेपी ने बिहार बोर्ड के अध्यक्ष आनंद किशोर पर निशाना साधा है.

जदयू नेता व पूर्व शिक्षा मंत्री अशोक चौधरी के बाद अब बीजेपी के एमलएसी व शिक्षक नेता नवल किशोर यादव ने बिहार बोर्ड के अध्यक्ष के साथ ही शिक्षा मंत्री कृष्णनंदन प्रसाद वर्मा को भी निशाने पर लिया है. एमएलसी नवल किशोर यादव ने कहा कि शिक्षा मंत्री कृष्णनंदन वर्मा को कुछ नहीं पता कि क्या दुरुस्त हुआ है. आनंद किशोर को नहीं हटाया गया तो सरकार को पछताना पड़ेगा.

उन्होंने कहा कि बिहार बोर्ड के अध्यक्ष आनंद किशोर गरीब बच्चों के साथ अत्याचार कर रहे हैं. जिन बच्चों ने आईआईटी, मेडिकल की परीक्षा पास की है, उन्हें फेल कर दिया गया है. आनंद किशोर बिहार के नर्सरी और जनमानस को खराब कर रहे हैं. उन्होंने यह भी कहा कि शिक्षा मंत्री अपने विभाग के चपरासी का भी सर्मथन करेंगे, यही उनकी बुद्धि है.

बता दें कि इसके पहले कल मंगलवार को पूर्व शिक्षा मंत्री अशोक चौधरी ने भी कहा था कि आनंद किशोर से बिहार बोर्ड नहीं संभलने वाला है. उन्होंने कहा कि बिहार बोर्ड में पारदर्शिता समाप्त हो चुकी है. मनमाना काम हो रहा है. बिहार की छवि खराब हो रही है. इसके पहले नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार पर तंज कसा था.