सीएम फेस नहीं होने पर बीजेपी ने किया नीतीश कुमार का इस्तेमाल, राघोपुर में खूब गरजे तेजस्वी

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव राघोपुर पहुंचे. राघोपुर विधानसभा क्षेत्र से खुद वे चुनाव लड़ रहे हैं. इसलिए वे यहां प्रचार करने पहुंचे. अपने भाषण में उन्होंने कहा कि राघोपुर ने बिहार को दो मुख्यमंत्री दिया है. तेजस्वी यादव ने कहा कि ये कोई चुनाव नहीं है, बेरोजगारी हटाओ आंदोलन है. उन्होंने कहा कि आज का सबसे बड़ा मुद्दा बेरोजगारी है. इससे बड़ा कोई मुद्दा नहीं हो सकता है.

तेजस्वी यादव ने कहा कि कमाई, पढ़ाई, दवाई और सिंचाई मुद्दा होना चाहिए. उन्होंने कहा कि हमारा यही मुद्दा है. नीतीश कुमार के राज में शिक्षा को पूरी तरह से चौपट कर दिया गया है. उन्होंने कहा कि आप तो जान ही रहे हैं कि बिहार में स्वास्थ्य की क्या हालत हो गई है? जो भी अस्पताल से आते हैं सीधा शम्शान घाट जाते हैं. इस प्रकार की यहां व्यवस्था है. आरजेडी नेता ने कहा कि अस्पतालों में कैसी हालत है, वह लोगों से छिपा नहीं है. चमकी बुखार को पूरे बिहार ने दिखा, कोरोना काल को भी पूरे बिहार ने देखा, यही नहीं शिक्षा की स्थिति ऐसी है कि सनी लियोनी भी बोर्ड में टॉप कर जाती हैं. उन्होंने कहा कि मुझे ये सब बताने की जरूरत नहीं है.



तीन-तीन साल तक बीए की पढ़ाई खत्म नहीं हो पाती है. बच्चों को 4 साल या पांच में बीए की डिग्री मिल रही है. उन्होंनेे कहा कि हम सब लोगों से निवेदन करना चाहते हैं कि एक क्षेत्र से विधायक होने के नाते लोग ये चाहते हैं कि उनका नेता उनके पास रहे और उनकी बातें भी सुने और उनका काम भी करे. उन्होंने कहा कि हम पूरे बिहार में एक हेलीकॉप्टर लेकर चल रहे हैं. लेकिन नीतीश कुमार और मोदी जी 30-30 हेलीकॉप्टर को पीछे छोड़ा हुआ है, ये डर है. विश्व की सबसे बड़ी पार्टी के पास कोई चेहरा नहीं है. बीजेपी को नीतीश कुमार का साथ लेना पड़ रहा है. लेकिन दिल मिला हुआ नहीं है, ये मतलब की यार हैं.

आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने कहा कि 15 साल तक बिहार में राज किया गया. लेकिन इतने सालों में जितनी तेजी से काम किया जाना चाहिए था, नहीं किया गया. किसी क्षेत्र का विकास नहीं हुआ. उन्होंने कहा कि शायद यही वो मैदान था, जहां मैंने उपमुख्यमंत्री रहते इस क्षेत्र का विकास किया. हमने पूरे वैशाली जिले में काम किया. लगभग 900 करोड़ रुपये का रोड दिया. उन्होंने कहा कि गांधी सेतु पुल पर काम हमने शुरू कराया, दीघा सेतु का काम हमने शुरू कराया. नीतीश कुमार ने कहा कि दियारा क्षेत्र में पुल के निर्माण नहीं शुरू कराया. लेकिन उसको भी हमने शरू कराया.

इसके अलावा हमने फायर बिग्रेड की गाड़ियां दी. जब खेत में आग लगती थी तो फसलें में जलकर राख हो जाती थी. इसलिए हमने दमकल की गाड़िया दी. ताकि वैसी परिस्थिति में आग पर काबू पाया जा सके. उन्होंने कहा कि हमने उपमुख्यमंत्री रहते कितना काम किया, ये कोई मामूली बात नहीं है. इसलिए हम आपलोगों से अपील करते हैं कि हमारा जो विजन है और जो रोड मैप है, हम उसपर काम कर रहे हैं. हम भविष्य की सोच रहे हैं. आपलोग समर्थन करेंगे तो राज्य का विकास तय है. आपलोगों ने 15 साल नीतीश कुमार को काम करने का मौका दिया था, अब एक बार भी हमें काम करने का मौका दीजिए.