मुजफ्फरपुर में खून के गोरखधंधे का पर्दाफाश, पुलिस ने 6 लोगों को किया गिरफ्तार

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: बिहार के मुजफ्फरपुर में खून का काला कारोबार धड़ल्ले से चल रहा था. इसका खुलासा तब हुआ जब स्थानीय लोग जागरूक हुए और सभी को यह धंधा करते रंगे हाथों धर दबोचा. कहा जा रहा है कि खून के इस काले कारोबार के धंधे में बड़े-बड़े अस्पतालों तक के तार जुड़ सकते हैं. साथ ही बड़े-बड़े नामचीन डॉक्टर से भी तार जुड़े हो सकते हैं.

मिठनपुरा थाना क्षेत्र के चुनाभट्टी गली से मोहल्ले के लोगों की जागरूकता के कारण पुलिस ने 6 लोगों को खून के धंधे में संलिप्तता के कारण गिरफ्तार किया है. पूरे मामले में नवीन कुमार नामक एक व्यक्ति को संचालक बताया जा रहा है जो प्राइवेट नर्सिंग होम में कार्यरत है. वहीं, स्थानीय लोगों के अनुसार चुना भट्टी गली में विगत 6 माह से नवीन कुमार किराए का मकान लेकर खोटे खून का धंधा कर रहा था.



देर शाम वहां पर आधा दर्जन से अधिक लोग कमरे में खून निकालने का काम कर रहे थे. मोहल्ले के लोगों को जब इस बात की जानकारी हुई तो उन्होंने बाहर से दरवाजा बंद कर स्थानीय मिठनपुरा थाना को सूचना दी. सूचना पर पहुंची मिठनपुरा थाना पुलिस ने 6 लोगों को और भारी मात्रा में ब्लड सैंपल, ब्लड के पैकेट के साथ गिरफ्तार किया है.

मौके पर मौजूद मिठनपुरा थाना पुलिस ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है. वहीं, गिरफ्तार ब्रह्मपुरा थाना क्षेत्र के आरिफ ने बताया कि नशे के लिए वह खून बेचने का काम करता था जिसके लिए उसे 1000 रूपये मिलते थे और वह हर महीने यहां पर खून देने आता था. वहीं, मकान मालकिन मंजू देवी ने बताया कि 6 महीने पूर्व नवीन कुमार ने उससे यह मकान किराए पर लिया था. उसने बताया था कि वह ब्लड सैंपलिंग व ब्लड बैंक में काम करता है. लेकिन वह यहां से खोटे खून का धंधा करता था.